Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

सोमवार , 28 सितंबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

हाईकोर्ट के फैसले ने हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ाई मुश्किलें

हाईकोर्ट ने भी माना है कि जनहित को ताक पर रखकर जमीनों में खेल हुआ है.

The High Court's decision, former Haryana Chief Minister Bhupinder Singh Hooda, increasing difficulties, Dhingra Commission, naya haryana, नया हरियाणा

17 जनवरी 2019



नया हरियाणा

हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. जिस जस्टिस एसएन ढींगरा आयोग की रिपोर्ट सार्वजनिक करने और कार्रवाई पर रोक लगाई गई है. उक्त रिपोर्ट को लेकर हाईकोर्ट ने भी माना है कि जनहित को ताक पर रखकर जमीनों में खेल हुआ है, इसीलिए प्रदेश सरकार ने जांच के लिए ढींगरा आयोग का गठन किया था. इसका मकसद सियासी बिल्कुल नहीं था बल्कि ठीक कदम था. एजी हरियाणा हाईकोर्ट बलदेव राज महाजन ने बुधवार को कहा कि अदालत की ओर से फिलहाल किसी तरह की कार्यवाही करने और रिपोर्ट को सार्वजनिक करने पर रोक तो लगाई गई है. लेकिन पूर्व सीएम को क्लीन चिट नहीं दी गई है.
ढींगरा आयोग के गठन के खिलाफ हुड्डा की याचिका पर दो सदस्यीय बेंच ने फैसला दिया था. जिसमें 2015 में आयोग के गठन में दुर्भावनापूर्ण इरादा नहीं था. लेकिन हुड्डा को नोटिस जारी करने में प्रक्रियात्मक अनियमितता थी. एक जज ने रिपोर्ट खारिज करते हुए कहा कि हुड्डा पर कार्रवाई नहीं हो सकती, तो वहीं दूसरे ने कहा था कि रिपोर्ट का प्रकाशन नहीं किया जा सकता. जस्टिस एसएन ढींगरा की अगुवाई वाले आयोग द्वारा जांच आयोग अधिनियम की धारा-8 बी के तहत हुड्डा को नोटिस जारी करने में प्रक्रियात्मक अनियमितता पाने के बाद आगे के कदम पर जजों की राय जुदा-जुदा थी.


बाकी समाचार