Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

गुरूवार, 17 जनवरी 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

लोकसभा चुनाव में होगा ईवीएम के साथ वीवीपैट मशीनों का इस्तेमाल

हरियाणा चुनाव आयोग ने लोकसभा और विधानसभा के चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है.

Lok Sabha elections, I used VVPat machines instead of EVM, naya haryana, नया हरियाणा

14 जनवरी 2019

नया हरियाणा

हरियाणा चुनाव आयोग ने लोकसभा और विधानसभा के चुनाव की तैयारियां शुरू कर दी है. इसके तहत उपायुक्तों को कहा गया है कि लोकसभा व विधानसभा चुनाव के तहत जो भी हिदायतें जारी की गई है उनसे संबंधित एआरओ, ईआरओ का विशेष तौर पर ध्यान रखा जाए. इनमें पहली बार वीवीपैट का प्रयोग किया जाएगा. 
इसके माध्यम से संबंधित मतदाता 7 सेकंड तक उस प्रक्रिया को देख सकेगा कि उसने किस को वोट डाला है. वोटर वेरीफ़ाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल यानी वीवीपैट (वीवीपैट) व्यवस्था के तहत वोट डालने के तुरंत बाद काग़ज़ की एक पर्ची बनती है. इसमें  जिस उम्मीदवार को वोट दिया गया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न छपा होता है.
हरियाणा चुनाव आयोग के सीईओ राजीव रंजन ने कहा कि मतदाता सूची व चुनावी सर्वेक्षण संबंधी बिंदुओं के बारे में चुनाव आयोग द्वारा दी गई हिदायतों के अनुसार कार्यों को करने के बारे में निर्देशों का पूरी तरह से पालन किया जाएगा. उन्होंने  उपायुक्तों से सुझाव व अन्य जानकारी भी ली है. साथ ही बीएलए नियुक्त करने, इलेक्ट्रोल रोल, सर्विस वोटर, चुनाव पाठशाला, पोलिंग बूथ स्टेशन की व्यवस्था, रैंप प्रोवाइड सहित चुनाव संबंधी तमाम कार्यों के बारे में जानकारी हासिल की. उन्होंने पोलिंग बूथ स्टेशनों की व्यवस्था, उनके नजदीक इंटरनेट और ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, ईवीएम मशीन वीवीपैट सहित अन्य बिंदुओं पर विस्तार से बातचीत की. 
उपायुक्त को निर्देश दिए गए हैं कि पुलिस अधीक्षकों से बैठक कर यह भी सुनिश्चित कर लिया जाए कि कौन-कौन से पोलिंग स्टेशन संवेदनशील है अथवा नहीं. उसको ध्यान में रखते हुए वहां पुलिस की व्यवस्था की जाए. पिछले चुनावों में जिन व्यक्तियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी उनके खिलाफ जो कार्यवाही की प्रक्रिया चल रही है उसको भी ध्यान में रखकर कार्य किया जाए.
समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा गया है कि वह जिले के दिव्यांग मतदाताओं की वोटर सूची को भी तैयार रखें और उन्हें चयनित करें. दिव्यांग मतदाताओं को पोलिंग बूथ स्टेशनों पर सुगमता से लाने वाले जाने का भी प्रबंध भी किया जाए. 
उपायुक्त शरणदीप कौर बराड़ ने सभी राजनीतिक दलों के प्रधान सचिवों से अनुरोध किया है कि वह अपने-अपने एरिया से संबंधित मतदान केंद्रों पर एक-एक बीएलओ नियुक्त करें. लेकिन अभी तक बीएलओ की नियुक्ति नहीं की गई है. इसीलिए इस कार्य को करना सुनिश्चित करें.


बाकी समाचार