Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

मंगलवार, 22 जनवरी 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

रणदीप सुरजेवाला हो सकते हैं दिग्विजय चौटाला के लिए खतरे की घण्टी

रणदीप की हर चाल शहर में बीजेपी पर और गांव में दिग्विजय को कमजोर करेगी।

रणदीप सुरजेवाला, दिग्विजय चौटाला, खतरे की घण्टी, बीजेपी, naya haryana, नया हरियाणा

13 जनवरी 2019

नया हरियाणा

बीजेपी की तरह जींद उपचुनाव में कांग्रेस की मुश्किलें भी कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। कांग्रेस हाईकमान ने रणदीप सुरजेवाला को टिकट देकर राजनीतिक गलियारों के विश्लेषकों को और पार्टी के नेताओं को चौंका दिया था। परंतु जींद के स्थानीय नेता को टिकट दिए जाने से नाराज चल रहे हैं। पूर्व कांग्रेस मंत्री मांगेराम गुप्ता ने तो इस निर्णय को मूर्खता तक कह दिया था। दूसरी तरफ कांग्रेस के पूर्व प्रत्याशी प्रमोद सहवाग और रघुवीर भारद्वाज टिकट नहीं मिलने से नाराज चल रहे हैं। अंशुल सिंगला हालांकि जल्दी ही मान गए थे, मानने से पहले उन्होंने जेजेपी का मन टटोलकर देख लिया था। वहां बात नहीं बनी तो खुद को कांग्रेसी कार्यकर्ता घोषित कर दिया था और घर व ऑफिस की छत पर तुरंत कांग्रेसी झंडा लहरा दिया था।

कांग्रेस की इस अंदरूनी लड़ाई में कांग्रेस को बड़ा फायदा ये है कि वो सच्चे मन से कांग्रेस का साथ दे सकते हैं क्योंकि उन्हें 2019 के विधानसभा में टिकट की उम्मीद पहले से ज्यादा बनी हुई दिखेगी। रणदीप सुरजेवाला से उन्हें कोई खतरा नहीं है। इसका दूसरा पहलू सोचे तो ये भी हो सकता है कि फिर रणदीप सुरजेवाला इसे ही अपनी सीट न मान लें। क्योंकि यहां से जीत उनका कद पार्टी और नेता दोनों स्तरों पर बढ़ा देगी।
इन्हीं सब संशयों में घिरे कांग्रेसी नेता कन्फ्यूज साफ नज़र आ रहे हैं।

दूसरी तरफ जेजेपी की चुनावी रणनीति में साफ दिख रहा है कि वो रणदीप पर फोकस करके ही अपना चुनाव प्रचार कर रहे हैं। रणदीप का बढ़ता दायर जेजेपी को कम करता चला जायेगा। वैसे भी चुनाव में जो शुरुवाती दौर में बढ़त में होता है उसके घटने की संभावनाएं ज्यादा होती हैं। सो रणदीप दिग्विजय के लिए खतरे की घण्टी हो सकते हैं।

Tags:

बाकी समाचार