Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 12 दिसंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

खिलाड़ियों ने हरियाणा सरकार को क्यों वापिस की गाय!

हरियाणा की भाजपा सरकार ने राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में मेडल जीतने वाली महिला बॉक्सरों को इनाम में गाय दी थी.

cow returns, haryana players,, naya haryana, नया हरियाणा

8 जनवरी 2018



नया हरियाणा


हरियाणा में रोहतक की तीन महिला मुक्के बाजों ने हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ से पुरस्कांर स्वरूप मिलीं गाय वापस कर दी हैं. वापिस करने का सबसे बड़ा कारण यह है कि जितना इन गायों पर खर्च हो रहा है, उससे कम कीमत का दूध दे रही हैं.
गौरतलब है कि हरियाणा की भाजपा सरकार ने पिछले साल नवंबर में राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में मेडल जीतने वाली महिला बॉक्सरों को इनाम में गाय दी थी. बीते साल 19 नवंबर से लेकर 26 नवंबर तक असम के गुवाहाटी में वर्ल्ड  यूथ वूमेन बॉक्सिंग चैंपियनशिप हुई थी. इसमें छह बॉक्सरों ने मेडल जीते थे. भिवानी के गांव धनाना की नीतू ने 48 किलोग्राम, साक्षी ने 54 किलोग्राम, रोहतक के रूड़की की ज्योति गुलिया ने 51 किलोग्राम और हिसार की शशि चोपड़ा ने 57 किलोग्राम वर्ग में स्वर्ण पदक हासिल किया था. वहीं पलवल की अनुपमा ने 81 किलोग्राम वर्ग में और कैथल की नेहा यादव ने 81 से अधिक किलोग्राम वर्ग में कांस्य पदक जीता था.
परेशानी का कारण बन गईं गायों तीन खिलाड़ियों ने वापिस कर दिया और चौथी वापिस करने की तैयारी में है. वापिस करने के कराण- गाय ठीक से दूध नहीं दे रही. हर रोज़ महज़ तीन किलो दूध ही दे रही है. दूसरी तरफ उनके घरवालों को ज़ख्मी कर देती हैं.
चैंपियनशिप में जीतने वाली बॉक्सरों के सम्मान में राजीव गांधी खेल स्टेडियम में साईं नेशनल बॉक्सिंग अकेडमी की तरफ से 29 नवंबर को समारोह का आयोजन किया गया. समारोह में कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने इन छह बॉक्सरों को देसी गायें देने की घोषणा की. उन्होंने कहा था, "गाय के दूध से जहां सुंदरता आती है, वहीं बुद्धि भी तीव्र हो जाती है."
इन खिलाड़ियों ने गायों से तंग आकर इन्हें वापिस कर दिया है. खुराना डेयरी के संचालक राजीव खुराना ने बताया कि हरियाणा सरकार ने उनसे छह गाय खरीदी हैं जिनकी कीमत 40 से 50 हज़ार रुपए तक है. हैरानी की बात यह है कि इतनी कीमत वाली गाय इतना कम दूध दे रही हैं.
इस मामले में हरियाणा के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा, "हमने गाय इनाम के तौर पर भेजी थीं. अगर खिलाड़ियों को गाय पसंद नहीं आई तो वो हरियाणा की देसी नस्ल की गाय पूरे प्रदेश में कहीं से खरीद सकते हैं." उनका कहना है, "बिल हमारे पास भेज दिया जाए और गाय की पेमेंट सरकार करेगी."

(बीबीसी से साभार चित्र सहित)


बाकी समाचार