Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 26 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

अंतरजातीय प्रेम विवाह करने पर परिजनों को गांव छोडऩे का फरमान

लड़के के परिजनों को गांव से 50 किलोमीटर दूर रहना होगा।

Intercast love marriage, fate of the family to leave the village, Prabhwala, Kumari Selja, Congress leader, Krishna Lal, SHO, Uklana Mandi, naya haryana, नया हरियाणा

7 जनवरी 2019



नया हरियाणा

उकलाना क्षेत्र के एक गांव की पंचायत ने गांव के लड़का व लड़की द्वारा अंतरजातिय विवाह करने पर लड़के के परिवार को 25 दिनों के अंदर-अंदर गांव छोड़कर जाने का फैसला सुनाया है। लड़के के परिजनों में सुरक्षा को लेकर भय का माहौल बना हुआ है और इस अंतरजातिय प्रेम विवाह करने के कारण गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई है। इस फैसले को लेकर कोई भी व्यक्ति  अपना मुंह खोलने को तैयार नहीं है और लड़के परिवार ने गांव छोड़कर जाने पर अपनी सहमति दे दी है। जानकारी के अनुसार उकलाना क्षेत्र के एक गांव की लड़की व लड़के ने दिसंबर के अंतिम सप्ताह में गांव से बाहर जाकर अंतर जातिय प्रेमविवाह कर लिया। लड़की के परिजनों ने गुमशुदगी की रपट दर्ज करवाई थी लेकिन जब उन्हें व ग्रामीणों को दोनों के प्रेमविवाह करने की जानकारी मिली तो गांव में माहौल तनावपूर्ण हो गया। तनाव लगातार बढ़ता जा रहा था। जिसके बाद रविवार को ग्रामीणों की एक बैठक हुई। जिसमें सभी बिरादरियों के लोगों ने भाग लिया। बैठक में एक 11 सदस्यों की कमेटी बनाई गई। जिसे लड़का व लड़की के परिजनों ने कोई भी फैसला लेने के लिए अधिकृत कर दिया और कहा कि वे जो भी फैसला करेंगे वह सभी को मान्य होगा। 11 सदस्यों की कमेटी ने काफी देर तक मंथन किया और देखा की मामला ज्यादा बढ़ चुका है और माहौल पूरी तरह से तनावपूर्ण बन चुका है। जिससे गांव की शांति व्यवस्था भंग हो रही है। इसलिए ऐसी स्थिति में गांव में बढ़े तनाव को देखते हुए फैसला किया गया कि वे अंतरजातिय विवाह करने वाली लड़का लड़की का बहिष्कार करेंगे और लड़के का परिवार भी गांव छोड़कर जाएगा।

25 दिनों में छोडऩा होगा गांव

मामले में ग्रामीणों ने फैसला सुनाया कि अब लड़के के परिजन गांव छोड़कर जाएंगे और उन्हें गांव छोडऩे के लिए 31 जनवरी तक का समय दिया गया है। ताकि गांव में बढ़ रहे तनाव को कम किया जा सके।

गांव से जाना होगा 50 किलोमीटर दूर

जानकारी के अनुसार लड़के के परिजनों को गांव ही नहीं छोडऩा होगा बल्कि उन्हें गांव से कम से कम 50 किलोमीटर दूर जाना होगा ताकि गांव में उनका भविष्य में किसी प्रकार से आना जाना न रहने पाए।

प्रेम विवाह करने वाले को पिता कर चुके हैं बेदखल

जिस लड़के ने अंतरजातिय प्रेमविवाह किया है उसे उनके पिता ने गत दिनों बेदखल कर दिया था और इसकी सार्वजनिक सूचना जारी की थी।

पीडि़त परिवार ने जताई असुरक्षा की आशंका

लड़के परिजनों ने कहा कि उन्होंने प्रेम विवाह करने वाले लड़को को बेदखल कर रखा है और वह उनके कहने सुनने से बाहर था। गांव में वे अब अपने आप को असुरक्षित महसुस कर रहे हैं। लेकिन अगर वे गांव छोड़कर 50 किलोमीटर दूर चले भी जाते हैं तो उन्हें वहां पर भी जान माल का डर रहेगा। वे अपने घर में कुंडी बंद करके रहते हैं। लड़के के भाई का शनिवार को एचटेट का पेपर था लेकिन वह इस मामले के कारण पेपर देने भी नहीं पहुंचे।

किसी भी व्यक्ति ने नहीं की शिकायत: एसएचओ

उकलाना क्षेत्र के एक गांव के लड़का लड़की द्वारा अंतरजातिय प्रेम विवाह किया है। लड़की की गुमशुदगी की रपट भी दर्ज की गई थी। अब लड़के के परिजनों को गांव छोड़कर जाने के फैसले की कहीं से जानकारी मिली लेकिन किसी भी व्यक्ति ने पुलिस को कोई शिकायत नहीं दी गई है। गांव में पुलिस गश्त कर रही है और हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। --कृष्ण लाल, एसएचओ उकलाना

पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा का गांव है प्रभुवाला

जिस गांव में ये फैसला लिया गया है वह पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी शैलजा का गांव प्रभुवाला है। शैलजा का यह पैतृक गांव है।


बाकी समाचार