Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 21 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

दिग्विजय चौटाला हो सकते हैं जननायक जनता पार्टी के प्रत्याशी

जींद उपचुनाव में सभी दलों के पसीने छूंट रहे हैं।

Digvijay Chautala, Jananayak Janata Party candidate, Ajay Chautala, Dushyant Chautala, Rajkumar Saini, Democracy Security Forum Party, Vinod Aashree, Jind Uppucha, Manghera Ram Gupta, Abhay Chautala, Randeep Surjewala, Kalayats MLA Jay Prakash, naya haryana, नया हरियाणा

7 जनवरी 2019

नया हरियाणा

जींद उप चुनाव हरियाणा प्रदेश के राजनीतिक गलियारों  में चर्चा का विषय बना हुआ है।  अभी तक जहां बड़ी-बड़ी पार्टियों ने उम्मीदवार घोषित भी नहीं किए हैं। ऐसे में लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने जींद में अपना उम्मीदवार उतार कर पहल की है। पार्टी के संरक्षक सांसद राजकुमार सैनी उपचुनाव को लेकर जींद में डेरा डाले हुए हैं। लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी ने जींद नगर परिषद के पूर्व चेयरमैन विनोद आसरी को मैदान में उतारा है। सांसद राजकुमार सैनी दल बल सहित जींद क्षेत्र में दिन रात दर्जनों नुक्कड़ सभाएं कर अपनी पार्टी के उम्मीदवार के समर्थन में डटे  हुए हैं। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी वचनबद्ध है एक परिवार एक रोजगार को लेकर। उनकी पार्टी बुजुर्गों और दिव्यांगों को ₹5000 पेंशन देने के साथ-साथ  पिछले 70 साल के भेदभाव और असमानता को दूर करने का काम करेगी। सांसद राजकुमार सैनी ने कहा कि जींद  निवासियों को मूलभूत सुविधाएं देने के साथ-साथ स्वास्थ्य शिक्षा सफाई और रोजगार पर ध्यान दिया जाएगा। अब तक जींद वासियों को सिर्फ राजनीतिक लोगों ने वोट के लिए इस्तेमाल किया  है। लोकतंत्र सुरक्षा पार्टी को जींद में सबसे पहले प्रत्याशी  उतारने का लाभ मिल रहा है। उनकी पार्टी के प्रत्याशी विनोद आसरी  के साथ समाज के हर वर्ग का समर्थन जुट  रहा है। इसके साथ ही नुक्कड़ सभाओं में महिलाओं की भागीदारी कई विपक्षी दलों की नींद उड़ा रही है।

कांग्रेस और बीजेपी में अपनी प्रत्याशियों को लेकर मंथन लगातार जारी है। दोनों ही दलों में फैसला हाईकमान को लेना है। वहीं हरियाणा के दो क्षेत्रीय दलों ने भी अभी तक अपने प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं। 10 जनवरी अंतिम तारीख है। ऐसे में इनेलो ने अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। कांग्रेस में जयप्रकाश के बेटे विकास का नाम जोर शोर से चल रहा है। ऐसे में जेजेपी की तरफ से दिग्विजय चौटाला का नाम प्रमुखता से सुनने में आ रहा है। इनसो अध्यक्ष दिग्विजय पर जेजेपी दांव लगा सकती है। 

इस उपचुनाव में किसी और पार्टी को कुछ फर्क पड़े या ना पड़े परंतु जेजेपी का भविष्य इस उपचुनाव में तय होना लग रहा है। दिग्विजय सिंह के प्रत्याशी होने का कयास इस बात से लगाया जा रहा है कि जजपा का सारा आईटी सेल पिछले कई दिनों से जींद में डेरा डाले हुए हैं और दुष्यंत चौटाला रात के अंधेरे में उन लोगों को मनाने जा रहे हैं। जिनकी जींद में अच्छी खासी पहचान है। गुरुवार देर रात्रि भी दुष्यंत चौटाला जहां एक नामी डॉ के घर गए। वहीं वे रणदीप सुरजेवाला के समर्थक को भी अपने पाले में लाने में कामयाब हो रहे हैं। इसी तरह इनेलो से अलग होकर कुछ लोग तटस्थ हो गए थे और अब उन्हें भी दुष्यंत ने अपने साथ जोड़ लिया है। पूर्व मंत्री मांगेराम गुप्ता का प्रतिपक्ष नेता अभय चौटाला से मिलना तथा उनके भाजपा में जाने की चर्चाओं को लेकर बैकफुट पर रही जजपा  अब पिछले 2 दिनों से फ्रंट फुट पर दिखाई देने लगी है। जजपा ने शुरुआती दौर में मांगेराम गुप्ता को अपने पाले में लाने के सारे प्रयास किए। लेकिन उन पर अभय चौटाला ने पानी फेर दिया। जिसके बाद अब दुष्यंत ने इस सबसे मुश्किल चुनाव में अपने ब्रह्म शस्त्र के रूप में दिग्विजय को चुनाव मैदान में उतारने का मन बना लिया है। हालांकि अजय चौटाला का कहना है कि जजपा प्रत्याशी की घोषणा 8 जनवरी तक कर देगी लेकिन अब दुष्यंत चौटाला किसी भी समय दिग्विजय सिंह की घोषणा कर सकते हैं।


बाकी समाचार