Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 21 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

फेसबुक पर हनीट्रैप का मामला सामने आया

फेसबुक के जरिए एक युवक को कथित तौर पर हनी ट्रैप में फंसा कर उससे रुपए ऐंठने का मामला सामने आया है.

Facebook, HoneyTrap case surfaced, millions of rupees in the name of police case, naya haryana, नया हरियाणा

2 जनवरी 2019

नया हरियाणा

फेसबुक के जरिए एक युवक को कथित तौर पर हनी ट्रैप में फंसा कर उससे रुपए ऐंठने और फिर पुलिस से झूठी शिकायत करके प्रताड़ित कर लाखों रुपए का सामान ऐंठने का मामला सामने आया है. जिसके बाद पीड़ित पर जानलेवा हमला किया गया वह उसकी गाड़ी तोड़ फोड़ डाली गई. वारदात के बाद पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया लेकिन अब 55 दिन बीत जाने के बावजूद आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई अभी तक नहीं हो पाई. इसके बाद आज आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने एक सप्ताह में उचित कार्रवाई नहीं की तो जिला पुलिस प्रमुख के कार्यालय का घेराव कर रोष प्रदर्शन किया जाएगा. यह बात पंजाब दलित फेडरेशन के प्रदेश अध्यक्ष एवं जालंधर के काउंसलर जगदीश राम ने सोमवार को स्थानीय प्रेस क्लब में पत्रकार वार्ता के दौरान की. 
पीड़ित युवक उजयपाल सिंह निवासी गांव ढोलनवान ने बताया कि 2010 में एक लड़की ने उसे फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजी जिसे उसने स्वीकार कर लिया. इसके बाद उसके साथ लगातार संपर्क में रहने लगी. धीरे-धीरे उक्त लड़की उसके साथ संपर्क बढ़ाने लगी और उसके साथ नियमित चैटिंग करने लगी. बात शादी के प्रस्ताव तक जा पहुंची. लड़की ने कहा कि वह अपने भाई के साथ ऑस्ट्रेलिया में रहती है जबकि उसके अभिभावक जालंधर में रहते हैं. इस बीच उसने बताया कि उसके भाई का आस्ट्रेलिया में एक्सीडेंट हो गया है और उसके माता-पिता भी वहां जा रहे हैं. उसने बताया कि उसकी चचेरी बहन अमेरिका से भारत आ रही है. लिहाजा वह उसे अपने पास कुछ समय रहने दे. उजयपाल ने बताया कि उनके घर गांव ढोलनवाल में वह 2 महीने अपने 4 साल के बच्चे के साथ रुकी. वह उसकी सारी मांगे पूरी करते रहे. उसने दिल्ली में चल रहे केस के लिए वकील की फीस देने के लिए 70 हजार रुपये ऐंठ लिए.
उजयपाल ने बताया कि इन 2 महीनों में वे रोजाना ही उक्त युवती को कार में विभिन्न स्थानों पर लेकर जाता. रात को उसे फेसबुक फ्रेंड बनी युवती का व्हाट्सएप कॉल आता था. जब कभी उसकी चचेरी बहन उसके साथ घर वालों को सामने होती तो फेसबुक फ्रेंड न तो कॉल करती, न उठाती. काफी समय बीतने के बाद समझ में आया कि यह उसकी चचेरी बहन नहीं कोई और ही है. इसके बाद ही पुलिस की ओर से संदेश आया कि उनके खिलाफ एक शिकायत आई है. जिसमें लिखा गया है उस लड़की ने उन्हें डेढ़ लाख रूपए नकद के अलावा सोने के आभूषण व अन्य कीमती सामान दिया है. पुलिस के एक अधिकारी से उन्हें राजीनामा में उक्त सामान लेना कबूल करवा कर सामान व गहने दिलवा दिए. पीड़ित के परिजनों व दोस्तों ने अब चेतावनी दी है कि अगर आरोपियों के खिलाफ पुलिस ने 1 सप्ताह में उचित कार्रवाई नहीं की, तो जिला पुलिस प्रमुख के कार्यालय का घेराव कर रोष प्रदर्शन किया जाएगा.
इस बारे में थाना माडल टाउन के एसएचओ भारत मसीह से बात की गई तो उनका कहना है कि मामले की गहन जांच जारी है. कुछ सबूत भी पुलिस को मिले हैं. उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप एवं फेसबुक पर डाटा चूंकि विदेश में स्थित सर्वर से मंगाया गया है, लिहाजा इसमें कुछ वक्त लगेगा.


बाकी समाचार