Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 20 जून 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

दंगा भड़काने के मामले में पूर्व सीएम हुड्डा के राजनीति सलाहकार वीरेंद्र समेत 3 पर होगी चार्जशीट दाखिल

प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह, कांग्रेस की ग्रामीण इकाई के पूर्व जिला अध्यक्ष जयदीप धनखड़ व दलाल खाप के प्रवक्ता मानसिंह दलाल को एफआईआर में आरोपी बनाया गया था.

Jat reservation movement, case of rioting, former CM Bhupinder Singh Hooda, Political Advisor Virendra Singh, Prof. Virendra Singh, Former District President of Congress, Jaideep Dhankar, Dalal Khap, spokesman Man Singh Dalal, naya haryana, नया हरियाणा

2 जनवरी 2019



नया हरियाणा

हरियाणा में चुनावी साल शुरू हो गया है. इसके साथ हरियाणा में भाजपा और कांग्रेस के बीच रोहतक की सियासत को लेकर गर्माहट फिर से बढ़ सकती है. रोहतक मेयर चुनाव में बीजेपी के मंत्री मनीष ग्रोवर ने सीधे-सीधे पूर्व सीएम हुड्डा पर आरोप लगाते हुए कहा था कि रोहतक को जलाने में हुड्डा की मुख्य भूमिका रही है, क्योंकि फरवरी 2016 के दंगों के मामले में सिविल लाइन पुलिस ने पूर्व सीएम हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह, कांग्रेस की ग्रामीण इकाई के पूर्व जिला अध्यक्ष जयदीप धनखड़ व दलाल खाप के प्रवक्ता मानसिंह दलाल को एफआईआर में आरोपी बनाया गया था.

पुलिस भी तीनों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करने की तैयारी कर रही है. इसके लिए 4 जनवरी शुक्रवार की तारीख तय की गई है. पुलिस सूत्रों ने बताया है कि फरवीर के जाट आरक्षण के  आंदोलन के दौरान वायरल हुई 1 मिनट 23 सेकंड की ऑडियो को मुख्य आधार बनाया गया है. आरोप है कि यह प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह अपने साथी जयदीप धनखड़ के मोबाइल से दलाल खाब के प्रवक्ता मानसिंह दलाल से बातचीत कर रहे थे. 17 नवंबर को सिविल लाइन थाना पुलिस ने चार्जशीट तैयार कर ली थी, लेकिन अदालत में दाखिल नहीं कर सकी थी. क्योंकि अदालत में सवाल उठा था कि कोर्ट में केवल प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह ही पेश हुए हैं. जयदीप विमान सिंह की अदालत में पेश होने को नोटिस दिया जाएगा. इसके बाद उनकी मौजूदगी में चार्जशीट दाखिल की जाए. ऐसे में मामले की अगली सुनवाई 4 जनवरी तय की गई है.

गौरतलब है कि करीब 2 साल 11 महीने पहले फरवरी 2016 में प्रदेश के अंदर जाट आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन चल रहा था. फरवरी महीने में आंदोलनकारियों ने रोहतक सोनीपत झज्जर सहित दूसरे एरिया में रोड जाम कर दिए. 19 फरवरी को शुरू हो गई जो भी सुबह 21 फरवरी को प्रदेश के दूसरे जिलों में भी फैल गई. इस हिंसा में न केवल दर्जनों लोग मारे गए बल्कि बड़े पैमाने पर आगजनी हुई. इसी दौरान एक विवादित ऑडियो वायरल हुई. जिसके आधार पर भिवानी के कारण कैप्टन पवन ने सिविल लाइन थाना रोहतक में शिकायत दी कि दंगों को भड़काने में पूर्व सीएम हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार प्रोफेसर वीरेंद्र सिंह का हाथ है. इसके लिए केस में इसी ऑडियो को आधार बनाया गया था. ऑडियो में दूसरी जगह आंदोलन शुरू कराने की बात की जा रही है. ऑडियो को आधार बनाकर पुलिस ने प्रोफेसर वीरेंद्र के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया था.

हुड्डा गुट की तरफ से हिंसा में शामिल नहीं होने को नकारा जाता है, जबकि रोहतक दंगों में जिन पर केस चल रहे हैं, उन्हें देखने पर तसवीर एकदम साफ हो जाती है. 

हरियाणा और खासकर रोहतक के आस पास हुई हिंसा में आरोपी बने लोगों के नामों पर ज़रा गौर करिए. ये सभी नाम ऐसे हैं जिनका या तो कांग्रेस से सम्बन्ध है या फिर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा से. आप भी जानिए आरोपियों के बारे में-
प्रोफ़ेसर वीरेन्द्र सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार
जयदीप धनखड़, कांग्रेस नेता और हुड्डा के करीबी
सचिन दहिया, कांग्रेस के पूर्व विधायक बीबी बत्रा का पूर्व पीए
सुदीप कलकल, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह के भतीजे का साढ़ू .
जोगेंद्र उर्फ जोगा-- सीएम भूपेन्द्र हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार रहे प्रोफेसर विरेंद्र का खास और कांग्रेस का कार्यकर्ता
सोमबीर जसिया- युवा कांग्रेस का अध्यक्ष
पवन जसिया- दीपेन्द्र हुड्डा का नजदीकी कांग्रेस कार्यकर्ता   
 


बाकी समाचार