Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 24 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

जींद उपचुनाव में कांग्रेस, भाजपा, इनेलो, लोकतंत्र सुरक्षा मंच और जेजेपी में से किस दल की होगी फतेह

जींद उपचुनाव के लिए सभी दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं.

lokatantr suraksha manch, Jind bye election, Congress, BJP, JJP, naya haryana, नया हरियाणा

1 जनवरी 2019

नया हरियाणा

जींद उपचुनाव जीतने के लिए सभी राजनीतिक दलों ने मजबूत उम्मीदवारों की तलाश शुरू कर दी है. सत्तारूढ़ भाजपा उपचुनाव में जीत हासिल करके आगामी लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव में अपने लिए मजबूत ग्राउंड तैयार करने की कोशिश में है. वहीं विपक्षी दल इनेलो, लोकतंत्र सुरक्षा मंच, कांग्रेस और जेजेपी भी चुनाव में पूरी के साथ उतरने को तैयार है. जींद को प्रदेश का केंद्र कहा जाता है और राजनीतिक रूप से बांगर बेल्ट की सीट का बड़ा महत्व है. ऐसे में प्रदेश का सियासी दिल कहे जाने वाले जींद में भी सभी दल जीतने की कोशिश में जुट गए हैं. राज्य सरकार की ओर से चुनाव आयोग को उपचुनाव के लिए सहमति दी जा चुकी है.

नववर्ष की शुरुआत के साथ ही यानी जनवरी के पहले सप्ताह में उपचुनाव के लिए कार्यक्रम जारी हो सकता है. यह उपचुनाव सभी राजनीतिक दलों के लिए महत्वपूर्ण है लेकिन सबसे बड़ी चुनौती नेता विपक्ष अभय चौटाला के सामने होगी.उन्हीं की पार्टी इनेलो के हरिचंद मिड्ढा यहां से विधायक थे और उनके निधन के बाद उपचुनाव के हालात बने हैं. इनेलो और चौटाला परिवार में हुए बिखराव के बाद यह चुनाव होगा. जो सीधे तौर पर चौटाला परिवार की प्रतिष्ठा से जुड़ा होगा. जींद को इनेलो का गढ़ माना जाता है लेकिन हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला द्वारा से अलग होने और जनता पार्टी का गठन किए जाने के बाद राजनीतिक हालात पूरी तरह से बदले हुए हैं. सत्तारूढ़ भाजपा ने हाल ही में पांच नगर निगम चुनावों में जीत का परचम लहराया है. इस जीत से भाजपा इतनी उत्साहित है कि जीत हासिल करने वाले पांचों में मेयरों को पहले पार्टी अध्यक्ष अमित से और सोमवार को मुख्यमंत्री खट्टर ने उनकी मुलाक़ात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से करवाई.
मेयर चुनाव में जीत से वर्करों के बड़े हौसले को देखते हुए सरकार ने निगम चुनाव के नतीजों के तुरंत बाद जींद में उप चुनाव कराने की सहमति चुनाव आयोग को दे दी. जींद में उप चुनाव की रणनीति के लिए गत दिवस दिल्ली में पार्टी दिग्गजों की अहम बैठक भी हो चुकी है. 
जातिगत समीकरण साधते हुए पार्टी यहां उम्मीदवार की तलाश में जुटी है. जाट के साथ-साथ पंजाबी, वैश्य व ब्राह्मण चेहरे पर मंथन चल रहा है. जाति का संतुलन बनाते हुए ही भाजपा समेत सभी दल यहां उम्मीदवार उतारेंगे. 2014 में कांग्रेस टिकट पर चुनाव लड़ रहे प्रमोद सहवाग पार्टी प्रदेशाध्यक्ष डॉ अशोक तंवर के जरिए टिकट हासिल करने की जुगत में है. पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा पिछले दिनों पूर्व मंत्री बृजमोहन सिंगला के बेटे अंशुल सिंगला को कांग्रेस ज्वाइन करवा चुके हैं. केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह अपने आईएएस बेटे बृजेंद्र सिंह को राजनीति में उतारने के संकेत दे चुके हैं. ऐसे में संभव है कि भाजपा ने किसी जाट नेता पर दाव लगाने के बारे में फैसला लिया तो बृजेंद्र सिंह उपचुनाव के जरिए ही राजनीति में छलांग लगा सकते हैं.

सभी दलों की तरफ से सभी उम्मीद्वारों बाबत मंथन किया जा रहा है।


बाकी समाचार