Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

सोमवार , 28 सितंबर 2020

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

हरियाणा में किसानों को मासिक पेंशन का मिलेगा तोहफा

बराला की अध्यक्षता में कमेटी ने मंथन किया

मनोहर सरकार, पेंशन योजना, हरियाणा, naya haryana, नया हरियाणा

28 दिसंबर 2018



नया हरियाणा

आजकल सभी राज्यों में किसानों को लेकर राजनीति चरम पर है. इसी सिलसिले में अब मनोहर सरकार का फोकस गांव की ओर हो चुका है. किसानों के मुद्दे पर जिस तरह से राष्ट्रीय स्तर पर सियासत गरमाई हुई है उसे देखते हुए प्रदेश सरकार भी किसानों की नाराजगी से बचने का रास्ता ढूंढ रही है. ऐसे में किसानों को खुश करने के लिए सरकार ने विभिन्न स्तरों पर मंथन किया है. बताया जा रहा है कि किसानों के लिए मासिक पेंशन योजना की शुरुआत मनोहर सरकार कर सकती है. किसानों की पेंशन योजना के लिए सरकार ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और टोहाना से विधायक सुभाष बराला की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया है. कमेटी के सदस्यों में नांगल चौधरी से विधायक अभय सिंह यादव, पानीपत ग्रामीण के विधायक महिपाल ढांडा, यमुना नगर के विधायक घनश्यामदास अरोड़ा, लाडवा के विधायक पवन सैनी और कृषि विभाग के महानिदेशक अजीत बालाजी जोशी सदस्य हैं.

वीरवार को चंडीगढ़ स्थित हरियाणा निवास में हुई इस कमेटी की बैठक में किसानों की पेंशन को लेकर विचार-विमर्श किया गया. प्रदेश में बुढ़ापा पेंशन नवंबर माह से 2000 रुपये मासिक हो चुकी है. सूत्रों का कहना है कि कमेटी सदस्य द्वारा किसानों को 5000 रुपये मासिक पेंशन दिए जाने पर मंथन किया है. हालांकि अभी यह तय नहीं है कि किसानों की पेंशन कितनी होगी. लेकिन इतना जरूर है कि नए साल पर राज्य के किसानों को पेंशन का तोहफा मिल सकता है.

कमेटी ने इस बात पर मंथन किया है कि वर्तमान बुढ़ापा पेंशन के नाम पर बुजुर्गों को मिल रही 2000 रुपये मासिक पेंशन में भी अधिकांश किसान कवर हो सकते हैं. किसान पेंशन योजना में से 60 वर्ष की उम्र भी पूरी कर चुके किसानों को ही कवर करने की योजना है. ऐसे में अगर किसान पेंशन शुरू होती है तो फिर किसानों को केवल यही पेंशन मिलेगी, उन्हें बुढ़ापा पेंशन नहीं दी जाएगी. इस तरह के विचार सूत्रों के हवाले से पता चल रहे हैं.

 


बाकी समाचार