Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

सोमवार , 25 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

जींद उपचुनाव में सभी पार्टियों को पछाड़ सकता है राजकुमार सैनी का प्रत्याशी

जींद उपचुनाव में राजकुमार सैनी को विपक्षी कम नहीं आंक सकते।

Jind Upchunav, Rajkumar Saini, Vinod Asrari, lokatantr suraksha manch, naya haryana, नया हरियाणा

26 दिसंबर 2018

नया हरियाणा

जींद उपचुनाव सभी दलों के लिए नाक का सवाल बनकर खड़ा होने वाला है, क्योंकि जींद उपचुनाव में जीत-हार सभी राजनीतिक दलों के भविष्य को तय करने वाला साबित हो सकता है. दुष्यंत चौटाला और राजकुमार सैनी दोनों ने नई पार्टी बनाई है। इसलिए इन दोनों की शक्ति का परीक्षण इन चुनावों में हो जाएगा। दोनों नेताओं ने ही जींद में रैली से अपनी शक्ति का प्रदर्शन भी बखूबी किया है। इन दोनों का कम आंकने की भूल कोई पार्टी नहीं करेगी।

लोकतंत्र सुरक्षा मंच के संरक्षक और कुरुक्षेत्र से भाजपा सांसद राजकुमार सैनी ने जींद रैली में कहा था कि अभी तक सभी राजनीतिक दलों ने जींद को जींद का जंजाल बना दिया है। किसी ने कुछ विकास नहीं किया। लेकिन उनकी पार्टी लोकतंत्र सुरक्षा मंच सत्ता में आने पर जींद को जिगर का टुकड़ा बना देगी। इसे इंडस्ट्रियल एरिया घोषित कर दिया जाएगा। एक तरह से उन्होंने जींद पर अपना फोकस पहले से बनाया हुआ था, क्योंकि जींद में जाट, बणिया, पंजाबी, ब्राह्मण और सैनी वोटरों की संख्या काफी बड़ी संख्या में है।

राजकुमार सैनी का आकलन यह है कि अगर वो ब्राह्मण प्रत्याशी को टिकट देंगे तो सैनी और ब्राह्मण दोनों मिलकर बड़ा वोट बैंक बन जाएंगे। इसी तरह का गुणागणित जेजेपी ने बनाया हुआ है कि वो बणिया प्रत्याशी खड़ा करेंगे तो जाट वोटर और बणिया वोटर दोनों मिलकर बड़ा वोट बैंक बन जाएंगे। आदर्शवाद भले ही राजनीति में जाति और धर्म को खराब मानकर नकारता हो परंतु राजनीति की जमीनी व व्यावहारिक हकीकत जाति और धर्म ही है। जमीनी मुद्दे चुनाव में बहुत कम असर रखते हैं।

जींद से पार्षद विनोद आशरी राजकुमार सैनी की लोकतंत्र सुरक्षा मंच पार्टी की तरफ से प्रत्याशी हो सकते हैं। जनसभा के आयोजक पार्षद विनोद आशरी ने कहा कि जींद की धरती से राजनीतिक बदलाव होता रहा है। अब राजकुमार सैनी की अगुआई में भी जींद से ही सत्ता परिवर्तन होगा। संभावित उपचुनाव में आशरी को लोकतंत्र सुरक्षा मंच की तरफ से प्रत्याशी बताया जा रहा है। सैनी ने भी मंच से कहा कि आशरी को टिकट देंगे, लेकिन एक भी पैसा नहीं लगने देंगे। जबकि दूसरी पार्टियों में तीन करोड़ लगते हैं। वहीं, बाद में सैनी ने कहा कि जींद से टिकट के लिए विनोद आशरी, विनोद सैनी सहित चार दावेदार हैं।


बाकी समाचार