Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 21 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

पलवल पुलिस ने रहस्यमयी हालात में हुई हत्या की गुत्थी सुलझाई

मोबाइल लोकेशन के आधार पर शक की सुंई गांव निवासी विक्रम पर घुमी।

Palwal police, resolved the murder case in mysterious circumstances, naya haryana, नया हरियाणा

25 दिसंबर 2018

नया हरियाणा

पलवल प्रैसवार्ता वार्ता को संबोधित करते हुए जिला पुलिस अधीक्षक विनोद कौशिक ने बताया कि गत 16 दिंसबर को गांव मेघपुर निवासी आनंद ने शहर थाना पुलिस को अपने पुत्र विनोद कुमार के कार सहित लापता होने की शिकायत दर्ज कराई। जिसके बाद गत 19 दिसंबर की सुबह विनोद का शव गांव में स्थित कचरा डंपिग प्लांट से बरामद हुआ। जिसके बारे में विनोद के परिजनों ने गांव ककराली निवासी कुछ युवको पर विनोद की हत्या करने का शक जाहिर किया और मामले की जांच सीआईए पलवल द्वारा कराने की मांग की। मामले की जांच सीआईए इंचार्ज सुरेश भड़ाना को दी गई। सुरेश भड़ाना ने अपने नेतृत्व में टीम गठित की जिसमें एएसआई शहीद व संजय कुमार, सिपाही रिंकू व सोनू, एसआई सतीश व हैड कांस्टेबल हेमराज को शामिल को किया गया। टीम ने गांव ककराली निवासी चार-पांच युवको को हिरासत में लेकर गहन पूछताछ की।

लेकिन कोई अहम सुराग हाथ नहीं लगा। जिसके बाद जांच जारी रही और मोबाइल लोकेशन के आधार पर शक की सुंई गांव निवासी विक्रम पर घुमी। पुलिस ने विक्रम को मुखबिर खास की सूचना पर गत 23 दिसंबर को पलवल बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। विक्रम ने गहन पूछताछ में बताया कि गत 15 दिसंबर को वह और गांव निवासी विष्णु विनोद के साथ उसकी कार में सवार हुए। जिसके कुछ देर बाद विष्णु कार से उतर गया और विक्रम व विनोद कार को लेकर हुडा सैक्टर-दो पहुंचे। जहां पर विक्रम ने विनोद से कहा कि अगले दिन उसे उसकी कार चाहिए जिसमें वह अपने गर्लफेंड को घुमाना चाहता है। जिसके बाद विनोद ने विक्रम से कहा कि वह उसकी गर्लफ्रेंड से मिलना चाहता है। जिस पर विक्रम ने इंकार कर दिया और कहा कि वह अपनी गर्लफ्रेंड से शादी करेगा। जिस पर विनोद ने कहा कि वह उसकी गर्लफेंड को रुपये दे देगा। इसी बात को लेकर विक्रम ने विनोद से रंजिश बना ली और पहले उसे बीयर पिलाई और बाद में कार में पीछे वाली सीट पर बैठकर मौका देख चुन्नी से विनोद का गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद विक्रम विनोद के शव को कार में लेकर घुमता रहा और मौका देख शव को गांव के कचरा डंपिग प्लांट में डाल दिया। पुलिस ने आरोपी विक्रम के कब्जे से हत्या में प्रयोग चुन्नी व मृतक विनोद की कार की चाबी को बरामद कर लिया और मंगलवार को उसे अदालत में पेश कर जेल भेज दिया।


बाकी समाचार