Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 20 अगस्त 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

खतरे में है कुलदीप बिश्नोई परिवार की सियासत!

कांग्रेस से बीजेपी में आए विनोद भ्याणा भाजपा की टिकट पर अगर चुनावी मैदान आएंगे तो मुकाबला कडा हो जाएगा।

Politics of Kuldeep Bishnoi family, politics of Hisar, politics of Adampur, Renuka Bishnoi, Hansi assembly, Vinod Bhayana, Jindal family, Gautam Sardana, naya haryana, नया हरियाणा

21 दिसंबर 2018



धर्मेंद्र कंवारी

हिसार में कुलदीप बिश्नोई को निगम चुनाव में जोर का झटका जोर से ही लगा है। हमारे हांसी हलके की विधायक रेणूका जी ने पंजाबी वोटों के बूते जीत दर्ज करने के बाद यदा कदा ही शक्ल दिखाई दी है, कुलदीप जी के दर्शन आदमपुर हलके के लोगों को ही कभी कभी होते है, हांसी तो काफी दूर है। हिसार में गौतम सरदाना के खिलाफ रेखा ऐरन को उम्मीद्वार बनाने का मूल विचार कुलदीप बिश्नोई का ही था, जिसे जिंदल हाउस के जरिए अंजाम तक पहुंचाया गया और फिर ये दर्शाने की कोशिश की गई दोनों परिवारों का सांझा उम्मीद्वार है।
वर्षों तक कुलदीप बिश्नोई जी के साथ जूतियां घिसाने वाले गौतम सरदाना को हार और घर फूंककर तमाशा देखने के अलावा कुछ नसीब नहीं हुआ था लेकिन जैसे ही कुलदीप ने रेखा ऐरन पर विश्वास जताया उसी दिन सरदाना की जीत भी तय ही हो गई थी। ऐसे माहौल में अगर कुलदीप बिश्नोई रेणूका जी को आदमपुर से उतारें और खुद हांसी से चुनावी मैदान में उतर जाएं तभी बडा उल्टफेर ये हो सकता है कि वे भी हार जाएं। 
कांग्रेस से बीजेपी में आए विनोद भ्याणा भाजपा की टिकट पर अगर चुनावी मैदान आएंगे तो मुकाबला कडा हो जाएगा। भयाणा का आज भी ठीक ठाक जनाधार है और वे कुलदीप जी को पानी पिला सकते हैं। हिसार में गौतम सरदाना के खिलाफ प्रत्याशी उतारकर पंजाबी वोटों को पहले ही नाराज कर चुके हैं कुलदीप बिश्नोई और हांसी में उनके बिना किसी का गुजारा नहीं। जाट वोट देने से रहे। हांसी में भी कुलदीप जी फ्री हेंड चुनाव नहीं लड पाएंगे कयोंकि अब आदमपुर में नाराज मतदाताओं से मिलना जुलना करना ही पडेगा। कुछ सालों से आदमपुर में भी जिस तरह से सतेंद्र सिंह जनसंपर्क अभियान छेडे हुए हैं, वो अलग से खतरे की घंटी है। कुलदीप के आने के बाद अब टिकट तो उन्हें मिलनी मुश्किल ही है लेकिन वो हराने में अहम भूमिका निभा ही सकते हैं।


बाकी समाचार