Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 19 मार्च 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

पंजाबियत का ढोल पीटना भाजपा सरकार को पड़ेगा महंगा

राज्य चुनाव आयुक्त ने जाति विशेष पर विज्ञापन प्रकाशित करने का स्वत संज्ञान लिया है.

Punjab government will be costlier to the drum beat, announcement of Karnal municipal elections, state election commissioner, advertisement on special caste, naya haryana, नया हरियाणा

18 दिसंबर 2018

नया हरियाणा

हरियाणा में नगर निगम चुनाव जीतने के लिए आखिरी समय में पंजाबियत का ढोल पीटना भाजपा सरकार को महंगा पड़ सकता है. विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से जाति विशेष का विज्ञापन देने पर कड़ी कार्रवाई की मांग की है. जिसके ऐवज में राज्य चुनाव आयुक्त ने जाति विशेष पर विज्ञापन प्रकाशित करने का स्वत संज्ञान लिया है. सीएम के पंजाबी समाज से होने का विज्ञापन जारी किए जाने पर राज्य चुनाव आयुक्त ने करनाल के डीसी से 3 दिनों में रिपोर्ट मांगी है. चुनाव आयोग इसी रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई करेगा. 
यदि चुनाव आयोग कोई कड़ा एक्शन लेता है तो इसकी गाज सीधे तौर पर सरकार और सीएम पर गिरेगी. जहाँ करनाल में सीएम सरकार ने चुनाव जीतने के लिए दिन-रात एक कर दिया. ऐसे में पंजाबियत का यह कार्ड भाजपा को महंगा साबित हो सकता है. नेता प्रतिपक्ष अभय चौटाला का कहना है कि भाजपा ने चुनाव से पहले ही हार मान ली थी. जिसके चलते करनाल में भाजपा को सीएम की साख बचाने के लिए पंजाबी ढोल पीटना पड़ा.

वहीं रेनू बाला गुप्ता ने साफ किया है कि वह चुनाव में व्यस्त थी. उन्हें इसकी कोई जानकारी नहीं है. विज्ञापन न तो भाजपा की ओर से जारी किया गया है और न ही उनकी ओर से. हम इसके बारे में अवश्य पता करेंगे. हमें समाज के हर वर्ग ने समर्थन दिया है और हम सभी का सम्मान करते हैं. सीएम मनोहर लाल हर वर्ग के हैं. वे 'हरियाणा एक, हरियाणवी एक' के नारे पर ही चलते हैं. समाज को बांटने का काम विपक्षी दल करते हैं,भाजपा नहीं.


बाकी समाचार