Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

मंगलवार, 22 जनवरी 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

जायका हरयाणे का : गुरूग्राम के रेवाड़ी स्वीट्स की मशहूर डोडा बर्फी

दुकान की चौथी पीढ़ी की के सचिन सैनी का कहना है कि आम दिनों में डोडा की बर्फी 100 किलो के पार हो जाती है.

Gurgaam, Gurgaon, Rewari suites, famous Doda Barfi, naya haryana, नया हरियाणा

13 दिसंबर 2018

नया हरियाणा

गुरु द्रोणाचार्य की भूमि गुरुग्राम को दिल्ली-जयपुर हाईवे दो भागों में बांटता है। हाईवे के एक तरफ ऊंची-ऊंची इमारतें, मॉल, कॉरपोरेटर तारों का जाल फैला है जिसे साइबर सिटी कहा जाता है और हाईवे के दूसरी तरफ पुराना शहर बसा है। दिल्ली से आते हुए इफको चौक से सुखराली गांव होकर एक सीधी सड़क डाकखाना चौक जाती है। यहां से तकरीबन 1 किलोमीटर क्षेत्रफल में गलियों का जाल बिछा हुआ है। जिसे सदर बाजार कहा जाता है। इसी इलाके में सरदार जलेबी, गांधी के पकोड़े, रूपा टिक्की के नाम से चार्ट और मिठाइयों की पांच दशकों से भी अधिक पुरानी दुकानें हैं। जहां दिनभर चटपटा खाने के शौकीनों का मजमा लगा रहता है।

इन्हीं में एक दुकान है 'रेवाड़ी स्वीट्स'।  यहां की बर्फी के आकार की चॉकलेटी कलर की मिठाई डोडा बर्फी इतनी मशहूर है कि सदर बाजार आने वाला इसका स्वाद चखे बगैर नहीं रहता। अंकुरित गेहूं, खोये और मेवे से बनी इस मिठाई का स्वाद पटना के गर्दनी बाग के मुस्लिम होटलों में मिलने वाले सोहन हलवा जैसा है। मगर इसमें और पटना के सोहन हलवा के कलर और स्वाद में काफी फर्क है। रेवाड़ी स्वीट्स के मालिक भगवान दास सैनी का कहना है कि दरअसल सोहन हलवा पाकिस्तान के पंजाब में ज्यादा पसंद किया जाता है। उसके बनाने के तरीके और नाम में परिवर्तन कर डोडा बनाया गया है। इस दुकान की खोये की बर्फी, गाजर का हलवा भी पसंद किया जाता है।

डोडा के चाहने वाले अमेरिका, कनाडा, यूरोप में बसे हरियाणवी से लेकर सूबे के आला अधिकारी और बड़े नेता भी हैं। हालांकि शुगर की बीमारी बढ़ने से मिठाई के शौकीनों की संख्या कम जरूर हुई है लेकिन डोडा बर्फी में चीनी की मात्रा बहुत कम होती है। जिस वजह से इसके शौकीन कम नहीं हुए हैं। रेवाड़ी स्वीट्स गुरुग्राम के सदर बाजार में 1935 में स्थापित की गई थी। रेवाड़ी स्वीट्स की दुकान और गुणवत्ता के प्रति 73 वर्षों बाद भी लोगों का विश्वास कम नहीं हुआ। दुकान की चौथी पीढ़ी की के सचिन सैनी का कहना है कि आम दिनों में डोडा की बर्फी 100 किलो के पार हो जाती है जबकि भारी सीजन का तो कहना ही क्या। हर कोई डोडा ही खोजता आता है।

सोशल मीडिया पर डोडा बर्फी बनाने की ये विधि बताई गई है-
विधि:-

3 छोटे चम्मच दलिया, 
1 kg दूध ,
1.1/2 katori cheeni.
20,22 काजू 
20,22 बादाम 
1/4 सुखा नारियल पाउडर,
50 gm खरबूजा मिन्जी..
पिश्ता ओर कतरन सजावट के लिए

दलिया 1 चम्मच देशी घी में सुनहरा होने तक भून ले।
दूध को उबाले और 1/3 तक गाड़ा करे...भुना दलिया दूध में डाले 5 min उबलने दे ।
चीनी को 1 चम्मच घी में गरम करे कलर dark brown हो जाएगा(caramalized)। नही तो 2 spoon coco पाउडर use कर सकते है।
Daliya के 5 min दूध में उबलने के बाद caramalized sugar य normal sugar add करे..mixture पतला हो जाएगा ...thick consistency तक पकाए with regular stirring।
अब कटे dry fruits nd roasted मींगी add करे।
Mix तो अच्छा thick होने तक पकाए regular stirring।
Greesed थाली में जमा दे ...garnished with cut पिस्ता nd काजू। 3,4 hours में कट कर ले।
Note... अगर sugar caramalised नही की है ...normal use की है तो colour क़े लिए 2 spoon coco powder use करे।


बाकी समाचार