Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शुक्रवार, 14 दिसंबर 2018

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हिंदी में चित्रा मुद्गल को ‘नाला सोपारा’ के लिए मिला साहित्य अकादमी पुरस्कार 2018

पुरस्कार में प्रत्येक विजेता को एक-एक लाख रुपये, एक प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह दिए जाएंगे।

Hindi literature, Chitra Mudgal, Nalla Sopara, Sahitya Akademi Award 2018, naya haryana, नया हरियाणा

6 दिसंबर 2018

नया हरियाणा

हिंदी में चित्रा मुद्गल को ‘नाला सोपारा पोस्ट बॉक्स नं. 203’ के लिए मिला साहित्य अकादमी पुरस्कार 2018

पुरस्कार में प्रत्येक विजेता को एक-एक लाख रुपये, एक प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह दिए जाएंगे। ये पुरस्कार 29 जनवरी को राजधानी में दिए जाएंगे। अकादमी के अध्यक्ष चंद्रशेखर कम्बार की अध्यक्षता में निणार्यक समिति ने इन पुरस्कारों को मंजूरी दी।

<?= Hindi literature, Chitra Mudgal, Nalla Sopara, Sahitya Akademi Award 2018; ?>, naya haryana, नया हरियाणा

साहित्य अकादमी ने अपने प्रतिष्ठित वार्षिक पुरस्कारों की बुधवार को घोषणा की।अकादमी ने हिन्दी में चित्रा मुद्गल, अंग्रेजी में अनीस सलीम, उर्दू में रहमान अब्बास, संस्कृत में रमाकांत शुक्ल और पंजाबी में मोहनजीत समेत कुल 24 भारतीय भाषाओं के लेखकों को साहित्य अकादमी पुरस्कार देने का एलान किया। अकादमी के सचिव के श्रीनिवास राव के अनुसार इस बार सात कविता-संग्रहों, छह उपन्यासों, छह कहानी संग्रहों, तीन आलोचनाओं और दो निबंध संग्रहों का चयन प्रतिष्ठित पुरस्कार के लिए किया गया है। उन्होंने बताया कि हिन्दी में लेखिका चित्रा मुद्गल को उनके उपन्यास ‘पोस्ट बॉक्स नं. 203-नाला सोपारा’ के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से नवाजा जाएगा, जबकि अंग्रेजी में अनीस सलीम को उनके उपन्यास ‘ द ब्लाइंड लेडीज़ डीसेंडेंट्स’ के लिए पुरस्कृत किया जाएगा। उर्दू में उपन्यास ‘रोहज़िन’ के लेखक रहमान अब्बास जबकि संस्कृत में कविता संग्रह ‘मम जननी’ के लिए रमाकांत शुक्ल को साहित्य अकादमी पुरस्कार के लिए चुना गया है। साहित्य अकादमी के वार्षिक महोत्सव ‘फेस्टीवल आफ लेटर्स’ के पहले दिन लेखकों को एक उत्कीर्ण की हुई तांबे की पट्टिका, एक शॉल और एक लाख रुपये नकद राशि प्रदान की गई।

23 लेखकों को दिया गया साहित्य अकादमी पुरस्कार

उधर, पुरस्कार समारोह में साहित्य अकादमी के हाल में नये अध्यक्ष नियुक्त हुए चंद्रशेखर कंबार ने कहा कि 23 भाषाओं में लिखी गई अधिकतर पुरस्कृत पुस्तकें सामाज और सामाजिक मुद्दों पर केंद्रित हैं। अफसर अहमद की ‘सेई निखोंज मनुष्ठा’ बंगाली भाषा में लिखी गई है जो कि अपनी जमीन गंवाने वाले लोगों का संकट दिखाती है, वहीं असमी लेखक जयंत माधब बोरा की ‘मोरियाहोला’ विस्थापित लोगों के मुद्दों पर केंद्रित है. अंग्रेजी लेखक ममांग दाई की पुस्तक ‘द ब्लैक हिल’ अरुणाचल प्रदेश में भारत..तिब्बत सीमा पर जीवन के ऐसे मुद्दों की बात करती है जिसके बारे में बहुत कम लोगों को पता है।

इन कवियों को मिला सम्मान:

पुरस्कृत कवियों में उदय नारायण सिंह (मैथिली), श्रीकांत देशमुख (मराठी), भुजंगा टुडू (संथाली), निरंजन मिश्रा (संस्कृत) और टी देवीप्रिय (तेलुगू) शामिल हैं। पुरस्कृत लेखकों में शिव मेहता (डोगरी), गजानन जोग (कोंकणी), गायत्री सराफ (उड़िया) और मोहम्मद बेग एहसास (उर्दू) शामिल हैं।


बाकी समाचार