Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

शनिवार, 15 दिसंबर 2018

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

मुख्यमंत्री की मनोहर ज्योति योजना लटकी अधर में

केंद्र सरकार से मिलने वाली राशि भी लैप्स हो गई है.

Chief Minister Manohar Lal, Manohar Jyoti plan hanging in the balance, solar system battery, naya haryana, नया हरियाणा

28 नवंबर 2018

नया हरियाणा

हरियाणा के मुख्यमंत्री के नाम पर शुरू होने वाली 'मनोहर ज्योति योजना' फिलहाल अधर में लटकी हुई है. 2 साल पहले अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए प्रदेश की गोल्डन जुबली के मौके पर शुरू होने वाली योजना अब तक ठंडे बस्ते में पड़ी हुई है. जिसके कारण केंद्र सरकार से मिली 23 करोड रुपए से अधिक की ग्रांट भी लैप्स हो गई है.
जिसे अब नए सिरे से टेंडर आमंत्रित करके पूरा किया जाएगा. इस पूरे मामले अहम् बात यह है कि सरकार ने लाभार्थियों से संबंधित कोई फार्मूला बनाने की जद्दोजहद भी नहीं की. जब इस योजना का फैसला हुआ तभी ऐलान किया गया था कि प्रदेश के 1 लाख परिवारों को सोलर सिस्टम प्रदान किए जाएंगे. जिसकी कीमत लगभग ₹22000 रखी गई थी. इसमें से ₹11800 केंद्र सरकार को देने थे. 5080 राज्य सरकार को देने थे तथा करीब करीब ₹5000 उपभोक्ता को देने बनते थे.

केंद्र सरकार की ओर से इस योजना के लिए 25 करोड़ रुपए भी आ गए थे.   हरियाणा सरकार की लापरवाही से यह पैसा लैप्स हो गया. जिसके परिणाम स्वरूप अब केंद्र सरकार ने इसकी सब्सिडी को कम कर दिया है. जो सब्सिडी पहले 11800 थी उसे घटाकर ₹7000 कर दिया गया है. जिसका सीधा असर ग्राहक पर या यूं कहें जनता पर पड़ेगा.
 सोलर सिस्टम क्या है

सोलर सिस्टम बैटरी युक्त होगा. सोलर ऊर्जा का बैटरी में स्टोर किया जा सकेगा. इससे एक घर में 3 लाइट, एक पंखा और एक चार्जर चल सकेगा. पहले की योजना में बैटरी की क्षमता कम थी, लेकिन अब जारी किए जाने वाली बैटरी की क्षमता को बढ़ा दिया गया है. अक्षय ऊर्जा राज्य मंत्री डॉक्टर बनवारी लाल का कहना है कि मनोहर ज्योति योजना के लिए जल्द ही टेंडर जारी किए जाएंगे. कुछ तकनीकी कारणों से देरी हुई है. यह बात सही है कि इस देरी की वजह से केंद्र का बजट लैप्स हो गया. टेंडर जारी होने के बाद ही इसके लिए आवेदन मांगे जाएंगे. फिलहाल पंद्रह हजार परिवारों को सोलर बैटरी सिस्टम देने की योजना है.
आपको बता दें कि यह इस योजना में पहले चरण में 21000 परिवारों को सिस्टम देना सुनिश्चित किया गया था, परंतु अब इसे घटाकर 15000 तक सीमित कर दिया गया है. अगर आवेदन करने वालों की संख्या इससे अधिक हुई ड्रा के जरिए यह सिस्टम दिए जाएंगे. टेंडर होने के बाद यह मामला हाई पावर परचेज कमेटी की बैठक में जाएगा. जहां से मंजूरी मिलने के बाद ही सोलर सेट खरीदने के आर्डर जारी किए जाएंगे.
सोलर सिस्टम एक लाख परिवारों के लिए योजना थी अब 15000 को को मिल सकेंगे.  अपने ही नाम से मनोहर ने ‘मनोहर ज्योति’ योजना शुरू की थी। किसी सिटिंग मुख्यमंत्री के नाम पर ऐसी योजना शुरू करने वाला हरियाणा पहला राज्य है। 


बाकी समाचार