Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

गुरूवार, 21 फ़रवरी 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

स्कूली बच्चों के लिए तोहफा, बैग के वजन को लेकर जारी की नई गाइडलाइन

सरकार के द्वारा जारी दिशा निर्देश के अनुसार पहली और दूसरी क्लास में पढ़ने वाले बच्चों को होमवर्क देने के लिए मना किया गया है.

Gift for schoolchildren, new guidelines issued on the weight of the bag, naya haryana, नया हरियाणा

27 नवंबर 2018

नया हरियाणा

स्कूलों में बदलाव की शुरुआत हो चुकी है। दसवीं  क्लास तक के बच्चों के चेहरे पर इसकी खुशी साफ देख सकते हैं। क्योंकि-स्कूल बैग का वजन कम हो रहा है। बच्चों को भारी बैग से आजादी पांचवीं क्लास तक के बच्चों के चेहरे पर इसकी खुशी साफ देख सकते हैं। क्योंकि-स्कूल बैग का वजन कम हो रहा है। स्कूल के बच्चों के बैग के वजन को लेकर सरकार ने एक नई गाइडलाइन तैयार की है। और  मंत्रालय ने सभी राज्यों में नए नियमों को भेज दिया है। जिसमें कक्षा पहली से 10वीं तक के बच्चों के बैग के वजन कम कर दिए हैं। गौरतलब है कि नई गाइडलाइन के मुताबिक चिल्ड्रन स्कूल बैग एक्ट, 2006 के अनुसार स्कूल बैग का वजन छात्रों के वजन के 10 फीसदी से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

स्कूली बस्तों के भारी भरकम वजन की वजह से बच्चों की कमर पर बुरा असर पड़ रहा था। बच्चों की सेहत के मद्देनजर सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है। स्कूली बच्चों के भारी भरकम बैग को लेकर एक लंबे समय से सवाल उठाया जाता रहा है. अब मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने इससे छुटकारा पाने के लिए राज्य सरकारों को दिशा निर्देश जारी किए है। इससे मासूम बच्चों को होने वाली हेल्थ दिक्कतों से छुटकारा मिल जाएगा. बच्चों के होमवर्क को लेकर भी नियम बनाया गया है.

सरकार के द्वारा जारी दिशा निर्देश के अनुसार पहली और दूसरी क्लास में पढ़ने वाले बच्चों को होमवर्क देने के लिए मना किया गया है. निर्देश दिए गए हैं कि बच्चों को केवल भाषा और मैथ ही पढ़ाया जाएगा। तीसरी से पांचवी क्लास के बच्चों को भाषा, ईवीएस और मैथ एनसीआरटी के सिलेबस से ही पढ़ाया जाए.कहा गया है कि बच्चे स्कूल में कोई भी एक्सट्रा किताब और कोई भारी सामान लेकर न आएं। इससे उनका बैग भारी हो सकता है। 


बाकी समाचार