Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

रविवार, 22 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

बादली विधानसभा के किसानों ने किया बीजेपी सरकार का बहिष्कार

कई बार मंत्री धनखड़ को बताया गया। प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायतें की गई.

Battli assembly, Khadan village, minister Omprakash Dhankar, village Dhakal, farmers boycotted the BJP government, naya haryana, नया हरियाणा

26 नवंबर 2018



नया हरियाणा

झज्जर जिले की पूनिया खाप ने भाजपा का राजनीतिक बहिष्कार कर दिया है। दरअसल पूनिया खाप खूडन गांव के किसान प्रकोष्ठ की आत्महत्या पर भाजपा सरकार के रवैये से नाराज है। खाप ने खूडन गांव के बस अड्डे पर भाजपा का राजनीतिक बहिष्कार करने के फलैक्स भी लगा दिये हैं। फलैक्स में साफ लिखा है भाजपा का राजनीतिक बहिष्कार है और खूडन 18 के गांवों में उनका प्रवेश वर्जित है। खूडन गांव कृषि और किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाष धनखड़ की विधानसभा बादली का गांव है। जहां से मंत्री जी को कांग्रेस के मुकाबले दोगुने वोट मिले थे। 

किसानों को सबसे अधिक मुआवजा, बीमा और अब डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य देने के नाम पर अपनी पीठ थपथपाने वाली भाजपा सरकार को जोर का झटका लग गया है। प्रदेश के कृषि और किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाष धनखड़ की विधानसभा की पूनिया खाप ने भाजपा का राजनीतिक बहिश्कार कर दिया है। खूडन गांव में बस अड्डे पर भाजपा के राजनीतिक बहिष्कार के फलैक्स लगा दिये गये हैं। फलैक्स पर साफ लिखा है कि खूडन -18 के गांवों में भाजपा नेताओं और मंत्रियों का प्रवेश वर्जित है और शर्मिंदा होने से बचने की सलाह भी है। दरअसल खूडन गांव में कर्ज और जिम्मेदारियों के बोझ  तले दबे किसान प्रकाश ने आत्महत्या कर ली थी। 10 दिन बीत गये किसान की मौत को लेकिन ना तो मंत्री महोदय गांव में आये और ना ही कोई प्रशासनिक अधिकारी।

गांव की सैंकड़ो एकड़ जमीन में बरसाती पानी भरा हुआ है। बरसाती पानी के कारण की किसान प्रकाश की आठ एकड़ धान की फसल बर्बाद हो गई। फसल बर्बादी का किसी ने सर्वे तक नहीं किया और ना ही कोई गिरदावरी हुई। बरसाती पानी के कारण अब तक गेहूं की बिजाई भी नही हो पाई। कई बार मंत्री धनखड़ को बताया गया। प्रशासनिक अधिकारियों को शिकायतें की गई लेकिन कोई समाधान नहीं हुआ। अब गांव का हर किसान गुस्सा है। सबका कहना है कि अब किसी भाजपाई को गांव में नही घुसने देंगे । अगर मंत्री भी आना चाहे तो गांव की सीमा पर ही पहले पंचायत से बात करें और माफी मांगे उसके बाद ही कोई फैसला हो सकेगा।

लोकसभा और उसके बाद विधानसभा चुनाव भी अब सिर पर आ गये हैंं। खूडन गांव मंत्री धनखड़ के गांव ढाकला से पांच किलोमीटर की दूरी पर है। पिछले विधानसभा चुनाव की बात करें तो यहां से ओमप्रकाष धनखड़ को कांग्रेस से दोगुने वोट भी मिले थे ।लेकिन इस बार पूरा गांव की नहीं खूडन-18 के सभी गांव नाराज हैं। वोट की चोट से मंत्री और भाजपा का सबक सिखाने की बात हो रही है। ऐसे में वक्त रहते भाजपा ने किसानों की राहत के लिये कोई कदम नही उठाया तो भाजपा को बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है।


बाकी समाचार