Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

भूपेंद्र हुड्डा को जनक्रांति यात्रा नहीं माफी यात्रा निकालनी चाहिए : कैप्टन अभिमन्यु

कैप्टन अभिमन्यु ने कथूरा गांव को 42 लाख रुपए की सौगात दी.

Bhupendra Hooda, no Jankranti yatra, Mafi yatra, Kathura village Gohana, Capt Abhimanyu, naya haryana, नया हरियाणा

26 नवंबर 2018



नया हरियाणा

हरियाणा सरकार में वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु ने  गोहाना के कथूरा गांव में अपने अभिनंदन समारोह में पधारे निवासियों को संबोधित करते हुए कहा कि वह वक्त भी आया था जब उनके घर के लोगों को जान बचाकर भागना पड़ा था. उन्होंने कहा कि हम भाईचारे के साथ थे, हैं और रहेंगे. हम सब कड़वी यादें यादें बिसार चुके हैं तथा हमारे दिल में अब किसी के प्रति भी कोई द्वेष नहीं है. वह बोले कि हमने अपने दिल पर पत्थर रख लिया है।कथूरा गांव से कैप्टन अभिमन्यु की बड़ी भाभी उषा हैं।
कैप्टन अभिमन्यु ने गांव को 42 लाख रुपए की सौगात दी. दूसरी तरफ नारनौंद में पूर्व सीएम हुड्डा पर कटाक्ष करते हुए कैप्टन अभिमन्यु ने कहा कि उन्हें जनक्रांति यात्रा नहीं बल्कि माफी यात्रा निकालनी चाहिए. ताकि वह अपने गुनाहों की माफी मांग सके वह गांव खांडा खेड़ी की चौपाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 50वीं मन की बात कार्यक्रम के दौरान कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे.

गौरतलब है कि 2900 करोड़ के घोटाले का नये मामले का खुलासा हुआ है.

 भ्रष्टाचार के खिलाफ जागरूकता महाआरती के आयोजन की तैयारी कर रहे हरेंद्र धींगड़ा का आरोप है अप्पूघर बनाने के लिए सुपर प्राइम लोकेशन वाली 42 एकड़ जमीन 2011-12 में सिर्फ 94 करोड़ 50 लाख रुपये में लीज पर दे दी गयी, जबकि उस समय इसका बाजार भाव 3 हजार करोड़ रुपये था। इससे हूडा को सीधे तौर पर 2900 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। उस समय मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा थे.
इसी 29 सेक्टर में 700 करोड़ रुपये कीमत वाली जमीन हूडा ने सिर्फ 36 लाख रुपये महीने किराये पर दे दी। रेपिड मेट्रो का जाल बिछाने के लिए किए गए एग्रीमेंट को रजिस्टर्ड न करवाकर अफसरों ने सीधे तौर पर कंपनी को फायदा पहुंचाने का प्रयास किया जिससे सरकार को अनुमानित तौर पर 240 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। संस्थाओं को निजी अस्पताल व स्कूल के लिए अलॉट की गई जमीन में भी बड़ा घोटाला हुआ है।
अफसर कुछ पूंजीपतियों के साथ मिलीभगत करके मनमानी प्रॉपर्टी को ई- नीलामी में रखकर या ई-नीलामी से बचाकर अपनी जेब भरने में लगे हैं। धींगड़ा के अनुसार हूडा सेक्टर्स में प्लॉट्स की ई- नीलामी गुरुग्राम का अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है। उनके अनुसार हूडा के अफसर और सरकार घोटालों का पर्दाफाश करने वालों के खिलाफ ही कार्रवाई करने में जुटे हैं।
 


बाकी समाचार