Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 24 फ़रवरी 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

भूपेंद्र हुड्डा और दीपेंद्र हुड्डा ने बीजेपी और इनेलो दोनों को आड़े हाथों लिया

पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि वो ना डरेंगे और ना दबेंगे।

Bhupinder Hooda, Dipendra Hooda, BJP Haryana, Inelo, Barwala Jankranti Yatra, naya haryana, नया हरियाणा

25 नवंबर 2018

नया हरियाणा

बीजेपी नेताओं द्वारा 70 साल बनाम साढे 4 साल के दिए जा रहे नारे पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडडा और उनके बेटे सांसद दीपेंद्र सिंह हुडडा ने सवाल उठाए है। दोनों ने कहा कि बीजेपी अपने साढे 4 साल को प्रदेश की खुशहाली का कार्यकाल बता रही है, लेकिन असलियत यह है कि हर वर्ग इनके राज में परेशान हुआ है. फिर चाहे बात मजदूर की हो, किसान की हो या व्यापारी की।

पिता-पुत्र ने इस दौरान मंच से ही भूपेंद्र सिंह हुडडा पर दर्ज किए गए मामलों को लेकर भी अपनी बात रखी। खुद भूपेंद्र सिंह हुडडा ने कहा कि बीजेपी मामले दर्ज करवाकर जनता में भ्रम पैदा करना चाहती है। लेकिन वो ना डरेंगे और ना दबेंगे। दोनों ने बीजेपी से जनता की समस्याओं को लेकर जवाब भी मांगा और कहा कि बीजेपी बताएं आखिर हरियाणा में उन्होंने नई क्या सौगात जनता को दी है।

वहीं दीपेंद्र ने कहा कि जब-जब कांग्रेस ने जनता से जुडे मुददे उठाएं, तो उनकी आवाज को दबाने के लिए बीजेपी ने ऐसा करके दबाने का प्रयास किया. साथ ही उन्होंने इनेलो पर भी इस मामले को लेकर निशाना साधा। बरवाला के मॉर्डन मंडी में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडडा ने जनक्रांति यात्रा के 7वें चरण की शुरुआत करते हुए बीजेपी और इनेलो को आडे हाथ लेने का काम किया।

हुडडा के अलावा कार्यक्रम में कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों के अलावा कई पूर्व विधायक और वर्तमान के विधायक भी थे। हुडडा सहित वक्ताओं ने एक तरह से चुनावी शंखनाद करते हुए अंदेशा जताया कि प्रदेश में लोकसभा और विधानसभा चुनाव इक्टठें होंगे, ऐसे में उन्होंने जनता को तैयार रहने का आहवान किया। रैली के आयोजक बरवाला के पूर्व विधायक रामनिवास घोडेला थे। सांसद दीपेंद्र सिंह ने पीएम नरेंद्र मोदी, सीएम मनोहर लाल को भी निशाने पर लिया।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने भाईचारा तोड़ने का, अमन चैन बिगड़ने का, रिकॉर्ड तोड़ मंहगाई बढ़ाने का, संवैधानिक संसथानों को नष्ट करने का, तेल और गैस की कीमतें बढ़ाने का काम करने के साथ झूठ बोलने का रिकॉर्ड कायम किया जो कांग्रेस 70 साल में नहीं कर पाई। इस दौरान धर्मपाल सिंह मलिक, पूर्व विधायक रामनिवास घोडेला, पूर्व स्पीकर डॉ. रघुवीर सिंह कादयान, कुलदीप शर्मा, विधायक गीता भुक्कल, आनंद सिंह दांगी, उदय भान, करण सिंह दलाल, जगबीर मलिक, जयवीर बाल्मीकि, ललित नागर, राजा महता सहित काफी कांग्रेसी नेतागण भी मौजूद थे।


बाकी समाचार