Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 16 दिसंबर 2018

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

मानेसर जमीन घोटाला में भूपेंद्र हुड्डा समेत आरोपी पहुंचे सीबीआई कोर्ट

भूपेंद्र सिंह हुड्डा कार्यकाल के दौरान करीब 900 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर उसे बिल्डर्स को औने-पौने दाम पर बेच दिया गया था.

Manesar land scam, former CM Bhupinder Hooda, CBI court, acquired around 900 acres of land during Hooda's tenure, sold it to builders for two and a half times, naya haryana, नया हरियाणा

16 नवंबर 2018

नया हरियाणा

मानेसर जमीन अधिग्रहण घोटाले का मामला
सुनवाई में आज सीबीआई ने बचाव पक्ष को चार्जशीट से जुड़े और डॉक्युमेंट्स दिए। बाकि और बचे डाक्यूमेंट्स अगली सुनवाई तक देने के लिए कोर्ट ने सीबीआई से कहा। मामले की अगली सुनवाई 4 दिसंबर को होगी।
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा आज पहुंचें पंचकूला स्थित हरियाणा की विशेष सीबीआई कोर्ट। हुड्डा सहित सभी 34 आरोपी पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट में हुए पेश। वहीं पिछली सुनवाई के दौरान चालान की स्क्रूटनी में कई दस्तावेजों की कमी पाई गई थी जिसकी मांग बचाव पक्ष के वकील ने की थी। चालान की चेकिंग के बाद ही सभी आरोपियों को सौंपी जा सकती है चालान की कॉपी और जल्द हो सकते हैं आरोप तय। मामले में आज सीबीआई द्वारा बचाव पक्ष को सौंपे जा सकते हैं चालान से संबंधित डॉक्यूटमेंट्स। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा सहित 34 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल की गई थी।  अब इस मामले में पंचकूला की सीबीआई कोर्ट के स्पेशल जज कपिल राठी की कोर्ट में सुनवाई चल रही है।  जिसमें हुडडा के अलावा एम एल तायल, छतर सिंह , एस एस ढिल्लों , पूर्व डीटीपी जसवंत सहित कई बिल्डरों के खिलाफ चार्ज शीट में नाम आया है। 

मानेसर जमीन घोटाले को लेकर सीबीआई ने हुड्डा सहित 34 के खिलाफ 17 सितंबर 2015 को मामला दर्ज किया था। इस मामले में ईडी ने भी हुड्डा के खिलाफ सितंबर 2016 में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था।  ईडी ने हुड्डा और अन्य के खिलाफ सीबीआइ की एफआइआर के आधार पर आपराधिक मामला दर्ज किया था। 
इस मामले में आरोप है कि अगस्तल 2014 में निजी बिल्डरों ने हरियाणा सरकार के अज्ञात जनसेवकों के साथ मिलीभगत कर गुड़गांव जिले में मानसेर, नौरंगपुर और लखनौला गांवों के किसानों और भूस्वामियों को अधिग्रहण का भय दिखाकर उनकी करीब 400 एकड़ जमीन औने-पौने दाम पर खरीद ली थी। कांग्रेस की तत्कालीन हुड्डा सरकार के कार्यकाल के दौरान करीब 900 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर उसे बिल्डर्स को औने-पौने दाम पर बेचने का आरोप है।
आरोपियों पर हुड्डा कार्यकाल के दौरान करीब 900 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर उसे बिल्डर्स को औने-पौने दाम पर बेचने का है आरोप है, सीबीआई ने हुड्डा सहित 34 आरोपियों के खिलाफ 17 सितंबर 2015 को मामला दर्ज किया था।
 


बाकी समाचार