Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

गुरूवार, 20 जून 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

नितिन गडकरी ने मोटरयान नियम 1989 में प्रस्तावित बदलाव न करने का भरोसा दिया: अभय चौटाला

इनेलो नेता ने केंद्रीय मंत्री को याद दिलाया कि 1989 में पूर्व उप-प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के प्रयासों के कारण ट्रैक्टर को किसान हित में कमर्शियल वाहन की श्रेणी से बाहर रखा गया था।

Nitin Gadkari gave assurance of not making proposed changes in motor vehicle rules 1989: Abhay Chautala, naya haryana, नया हरियाणा

12 दिसंबर 2017



नया हरियाणा

केंद्रीय सडक़ परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के निमंत्रण पर हरियाणा के नेता विपक्ष अभय सिंह चौटाला के नेतृत्व में इनेलो के वरिष्ठ नेताओं का एक प्रतिनिधिमण्डल उनसे दिल्ली में मिला। केंद्रीय मंत्री ने इनेलो को केंद्रीय मोटरयान नियम 1989 में प्रस्तावित बदलाव बारे विस्तार से चर्चा करने के लिए आमंत्रित किया था। केंद्रीय मोटरयान नियम 1989 में नियम 2 के उप-नियम (ख) से ‘कृषि ट्रैक्टर एक परिवहनेत्तर वाहन है’ को हटाने का प्रस्ताव था जिससे हरियाणा सहित पूरे देश के किसानों की अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पडऩा था।


केन्द्रीय मंत्री से मुलाक़ात के बाद अभय चौटाला ने कहा कि वह केंद्रीय मंत्री के आभारी हैं कि उन्होंने न केवल अपना समय दिया बल्कि उनकी मांग को मानते हुए इस नियम के प्रस्तावित बदलाव को रोकने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि इनेलो के प्रतिनिधिमण्डल ने मंत्री महोदय को बताया कि यदि नियम में इस प्रकार का बदलाव किया जाता है तो कृषि कार्यों के लिए अनिवार्य ट्रैक्टर भी कमर्शियल वाहनों की श्रेणी में आ जाएंगे जिससे वह प्रदूषण नियंत्रण सहित अन्य उन सभी कानूनों के दायरे में आ जाएंगे जो कमर्शियल वाहनों पर लागू होते हैं।


अभय सिंह चौटाला ने कहा कि मंत्री महोदय उनके इस तर्क से सहमत थे कि ऐसा होने पर न केवल किसानों की सडक़ों पर परेशानियां बढ़ेंगी बल्कि उनके कृषि लागत मूल्य में भी वृद्धि होगी जो वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए किसानों के लिए कमरतोड़ होगी। इनेलो नेता ने केंद्रीय मंत्री को याद दिलाया कि 1989 में पूर्व उप-प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल के प्रयासों के कारण ट्रैक्टर को किसान हित में कमर्शियल वाहन की श्रेणी से बाहर रखा गया था।

Tags:

बाकी समाचार