Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 21 नवंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

भाजपा मुख्यमंत्री बनाने की कहेगी तो अगला चुनाव लड़ लूंगा : बीरेंद्र सिंह

बांगर के चौधरी का मुख्यमंत्री बनने का सपना अभी पूरा नहीं हुआ है.

BJP Chief Minister, Chowpar of Bangar, Jind upchuav, Birendra Singh, naya haryana, नया हरियाणा

28 अक्टूबर 2018

नया हरियाणा

हरियाणा की राजनीति में बांगर की धरती हरियाणा की राजनीति की नर्सरी कही जाती है. बांगर की चौधर का सवाल हर बार हरियाणा की राजनीति में अपना विशेष महत्त्व रखता है. वो भी उस समय ये सवाल ज्यादा अहम् हो जाता है, जब जींद में उपचुनाव होने की सुगबुगाहट हो.
भाजपा, कांग्रेस और इनेलो तीनों के लिए यह उपचुनाव किसी शक्ति परीक्षण से कम नहीं होने वाला है. दूसरी तरफ हरियाणा की जनता मूड किस तरफ है, ये भांपने के लिए भी यह चुनाव एक पैमाना हो सकता है.
राजनीतिक गलियारों में इस उपचुनाव को लेकर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. आखिर हर पार्टी के भीतर पहली जंग तो अपने चहेते को टिकट दिलवाने की छिड़ने वाली है.
ऐसे में बांगर के चौधरी बीरेंद्र सिंह कहां मौका चूकने वाले थे. भले ही हरियाणा की राजनीतिक उठापठक में अब तक इनका मुख्यमंत्री बनने का चौका नहीं लगा है, परंतु आज भी उनके भीतर ये सपना यूं ही हिलौरे मार रहा है. जिससे साफ पता चलता है कि राजनीति इंसान को कितना आशावान और जीवंत बनाए रखती है. खैर
मुख्यमंत्री बनने की टीस केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के मन में आज भी है। घोघड़िया गाँव में ग्रामीण जन सभा को संबोधित करते हुए अपनों के बीच बोलते हुए केंद्रीय मंत्री बिजेंद्र सिंह ने कहा कि भाजपा मुझे मुख्यमंत्री बनाने की कह दे तो अगला इलेक्शन लड़ लूंगा, नहीं तो मैंने तो सारे इलेक्शन लड़-लड़ कर खूब खींचने वालों को भी देख लिया है और ऊपर उठाने वालों को भी देख लिया हैं। 
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि 1991 में 26 विधायक होने के बाद भी सीएम नहीं बन सके। क्योंकि जिले के जो कांग्रेस के विधायक थे, वह मेरे साथ नहीं लगे। हलके के लोगों ने 1977 में भी मेरा साथ दिया। जब कांग्रेस उम्मीदवार को गांव में आने तक नहीं देते थे। उस समय भी हलके के लोगों ने विधायक बनाने का काम किया। गरीब आदमी ने हमेशा मेरा साथ दिया। मैंने जितनी राजनीति की है ईमानदारी से की है और जितनी करूंगा ईमानदारी से करूंगा।
 


बाकी समाचार