Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 21 नवंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

एक आदमी से पार्टी नहीं चलती : दिग्विजय चौटाला

हरियाणा के चौटाला परिवार में लंबे समय से चली आ रहे मनमुटाव का फिलहाल तो कोई समाधान निकलता नहीं दिख रहा है.

The party does not run from a man, Digvijay Chautala, MP Dushyant Chautala, allegations of indiscipline in the party, both are our children, Abhay Singh Chautala, Omprakash Chautala, Ajay Chautala, naya haryana, नया हरियाणा

25 अक्टूबर 2018

नया हरियाणा

छात्र संगठन इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय सिंह चौटाला ने बुधवार को चौटाला हाउस में पत्रकारों से बातचीत के दौरान किसी का नाम लिए बिना कहा कि एक आदमी से पार्टी नहीं चलती। दिग्विजय ने कहा कि उन्हें लास्ट चांस देने की जो बात कही जा रही है, हमें उस चांस की आवश्यकता नहीं, लेकिन जब किसी पर कोई आरोप लगता है तो उसके सबूत व तथ्य तो दिए जाएं, ताकि सामने वाला अपना पक्ष रख सके। उन्होंने कहा कि उन्हें दया की भीख नहीं चाहिए। उन्होंने कहा कि 25 अक्तूबर को जो भी फैसला आएगा, उसके बाद फैसला जनता पर छोड़ देंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि उनके पिता व पूर्व सांसद डा. अजय सिंह चौटाला 2 नवंबर को तिहाड़ जेल से बाहर आएंगे और इस मुद्दे पर उनका दृष्टिकोण वे ही स्पष्ट करेंगे।

गौरतलब है कि हरियाणा के चौटाला परिवार में लंबे समय से चली आ रहे मनमुटाव का फिलहाल तो कोई समाधान निकलता नहीं दिख रहा है लेकिन, इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के वरिष्ठ नेता अभय सिंह चौटाला ने इस मामले में आगे बढ़कर सुलह करने की पहल की है। शुक्रवार को दिए एक बयान में अभय सिंह ने कहा उनके भतीजे दुष्यंत और दिग्विजय उनके ‘अपने बच्चे’ हैं।

अभय सिंह चौटाला ने परिवार में आपसी मनमुटाव की खबरों को तवज्जो न देते हुए कहा कि, हर परिवार में लोगों के अलग विचार और भावनाएं होती हैं ये तो चलता रहता है, दुष्यंत और दिग्विजय उनके ‘अपने बच्चे’ हैं और सबको अपना विचार रखने का हक है। हालांकि उन्होंने इसबात पर जोर दिया कि पार्टी के अनुशासन को भंग करने पर कार्रवाई की जाएगी। इस बीच, दिग्विजय ने शुक्रवार को भी बागी तेवर दिखाए।     

क्या था पूरा मामला

 

चौटाला परिवार में मनमुटाव गुरुवार को उस समय सामने आ गया जब इनेलो के अध्यक्ष ओमप्रकाश चौटाला ने पार्टी की छात्र और युवा इकाइयों को भंग कर दिया। इनका नेतृत्व क्रमश: दुष्यंत और दिग्विजय कर रहे थे। अभय सिंह चौटाला ओमप्रकाश चौटाला के छोटे बेटे हैं। दुष्यंत और दिग्विजय अभय के बड़े भाई अजय सिंह चौटाला के बेटे हैं।

अभय ने कहा, ‘दुष्यंत (और दिग्विजय) के साथ कोई मनमुटाव नहीं है, वे हमारे बच्चे हैं। हालांकि उन्होंने कहा, ‘अनुशासन हमारी पार्टी की सबसे बड़ी ताकत है। अगर कोई भी उसका उल्लंघन करता है तो पार्टी कार्रवाई करेगी। अभय ने चंडीगढ़ स्थित अपने घर पर मनमुटाव को लेकर सवालों के जवाब देने के लिए बुलाए गए संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि क्या हिसार लोकसभा सीट से इनेलो के सांसद दुष्यंत को पार्टी से निकाल दिया गया है।

इस बीच, दिग्विजय ने नयी दिल्ली में दोहराया कि उनके दादा ओम प्रकाश चौटाला उस इंडियन नेशनल स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन (इनसो) को भंग नहीं कर सकते जिसके वह प्रमुख थे। दिग्विजय ने कहा, ‘यूं तो इनसो वैचारिक तौर पर इनेलो से संबद्ध है, लेकिन यह सोसाइटी कानून के तहत एक अलग इकाई और एक पंजीकृत संगठन है।


बाकी समाचार