Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 22 मई 2019

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

1962 पर टोल फ्री नंबर करके चिकित्सा क्लिनिक की सेवाओं का उठा सकते हैं लाभ

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में पशु संजीवनी सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है.

1962 Toll Free Number, Medical Clinic, Chief Minister Manohar Lal, Agriculture Minister Om Prakash Dhankar,, naya haryana, नया हरियाणा

24 अक्टूबर 2018



नया हरियाणा

हरियाणा सरकार ने प्रदेश में पशु संजीवनी सेवा शुरू करने का निर्णय लिया है, जिसके अंतर्गत पशुपालकों को मोबाइल पशु चिकित्सा क्लीनिक्स के माध्यम से निशुल्क गुणवत्तापरक चिकित्सा सेवाएं और स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं उनके घर द्वार पर पशुधन के लिए उपलब्ध करवाई जाएंगी।
प्रारंभ में, इस सेवा को 3 जिलों नामतः जींद, यमुनानगर और नूंह के सभी खंडों में आरंभ किया जाएगा।
इस आशय का एक निर्णय मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में मंगलवार को पशुपालन एवं डेयरी विभाग की एक बैठक में लिया गया। बैठक में पशुपालन एवं डेयरी विभाग के मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ भी उपस्थित थे।
बैठक में बताया गया कि पशु पालक टोल फ्री नंबर 1962 पर फोन करने के उपरांत 24 घंटे मोबाइल चिकित्सा क्लिनिक की सेवाओं का लाभ उठा सकेंगे। इन तीनों जिलों के प्रत्येक खंड की सेवा में एक मोबाइल वाहन को लगाया गया है ताकि पशुधन को आपातिक चिकित्सा सेवाएं और स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा सके। प्रत्येक मोबाइल वाहन में तीन सदस्यों का एक दल होगा जिसमें एक पशु चिकित्सक, एक पैरावेट और एक सहायक संचालक शामिल है। इसके लिए पशुपालक से प्रति द्वारा प्रति मालिक के हिसाब से 100 रुपये की मामूली फीस वसूल की जाएगी। बहरहाल, उपचार और औषधियां निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएंगी।
बैठक नहीं है अभी बताया गया कि गुणवत्ता परक रोग निदान सुविधाएं प्रदान करने और पशु बीमारियों की बेहतर निगरानी करने के अतिरिक्त पशु पालकों को उनके घर द्वार पर गुणवत्ता परक रेफरल चिकित्सा स्वास्थ्य सेवाएं और एक्सटेंशन गतिविधियां भी प्रदान की जाएगी। बैठक में यह भी बताया गया कि राज्य में 1018 पशु अस्पताल,7 पॉलिक्लीनिक्स और 1814 पशु औषधालय है। बैठक में बताया गया कि विभाग बड़े पैमाने पर मिल्क प्रोसेसिंग का कार्य कर रहा है। इसी क्रम में एक मिल्क प्रोसेसिंग यूनिट वाला लाला लाजपतराय पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय, हिसार में उपभोक्ताओं को ताजा दूध उत्पाद प्रदान करने के लिए स्थापित की गई है।


बाकी समाचार