Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 21 नवंबर 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

झा आयोग ने भूपेंद्र हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार प्रो. वीरेंद्र सिंह को किया तलब

प्रो. वीरेंद्र पर हरियाणा में हुए दंगों को भड़काने के आरोप में केस चल रहा है।

Jha Commission, Former Chief Minister Bhupendra Hooda, Political Consultant Prof. Virendra Singh, Jat reservation, accusations of rioting, riot racket, Sudip Kakal, naya haryana, नया हरियाणा

15 अक्टूबर 2018

नया हरियाणा

आरोप है कि पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार रहे प्रोफेसर वीरेंद्र ने जाट आरक्षण आंदोलन को भड़काया। उनका एक विवादित ऑडियो टेप सामने आया था, जिसमें वे आंदोलन को दूसरी जगह भी शुरू करने की बात कह रहे हैं। इस टेप के आधार पर भिवानी के रिटायर्ड कैप्टन पवन कुमार ने प्रोफेसर विरेंद्र सिंह और दलाल खाप के प्रवक्ता कैप्टन मानसिंह के खिलाफ  राजद्रोह का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस की ओर से दिए गए समय पर भी प्रोफेसर जांच के लिए आगे नहीं आए तो कोर्ट ने उनका गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। बाद में उन्हें जमानत मिल जाती है।
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार प्रो वीरेंद्र को गुरुग्राम में मंगलवार को मंगलवार को  झा  आयोग  के सामने पेश होने को कहा गया है। प्रो. वीरेंद्र फिलहाल जमानत पर बाहर हैं।
कुछ सवाल जो आमजन के जेहन में लगातार उठ रहे हैं, वो ये हैं कि
क्या रोहतक पुलिस प्रो वीरेंद्र को बचा रही है?  दो साल हो गए अभी तक  शिकायतकर्ता  को जाँच  में शामिल नहीं  किया? क्या मनोहर सरकार इस मामलों को गंभीरता से नहीं ले रही है? आखिर किसे बचाने के लिए जांच को इतना धीमा किया जा रहा है? पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा जिन्होंने आरंभ में प्रो. वीरेंद्र से दुरिया बना ली थी, अब दोबारा से नजदीकियां बढ़ गई हैं। इसके पीछे सूत्र वजह बता रहे हैं कि पूर्व सीएम और वीरेंद्र सिंह ने सबूतों को मिटा दिया है। अगर ऐसा हुआ है तो वर्तमान सरकार की नीति और नियत दोनों पर सवाल उठते हैं।
झा आयोग जाट आरक्षण आंदोलन की आड़ में हुए दंगो के पीछे राजनीतिक साजिश के आरोपों की जाँच कर रहा है। सवाल तो यह भी उठ रहा है कि आखिर झा आयोग तेजी से काम को अंजाम क्यों नहीं दे पा रहा है? झा आयोग की रिपोर्ट के बाद हरियाणा की जनता को असली षड्यंत्रकारियों का पता चल सकेगा। प्रो. वीरेंद्र को आयोग ने नोटिस भेजकर मंगवालवार को आने को कहा है। 
भिवानी के पवन अंचल द्वारा केस दर्ज किए हुए  दो साल से ज्यादा समय हो गया। ऐसे में ये सवाल उठने लगे हैं कि रोहतक पुलिस ने शिकायतकर्ता को जाँच में शामिल क्यों  नहीं किया है? अभी तक रोहतक पुलिस ने चार्जशीट दायर क्यों नहीं की?  
ऐसी चर्चाएं आम हैं कि अभी हरियाणा   पुलिस में भूपेंद्र हूडा के  समर्थक मौजूद हैं और पूरे सरकारी तंत्र में उनकी घुसपैठ बताई जाती है। अगर ये सच है तो ऐसे में निष्पक्ष जांच कैसे होगी? कैसे हरियाणा की जनता के सामने असली षड्यंत्रकारी और गुनहगारों के चेहरे आ सकेंगे?
प्रो. वीरेंद्र की पहुंच हुड्डा सरकार में इतनी अधिक थी कि वो हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार तो थे ही, साथ में उनकी पत्नी को हुड्डा ने सूचना आयुक्त नियुक्त किया हुआ था। ऐसे में ये सवाल उठने लाजिमी हैं कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार वीरेंद्र साफ-साफ ओडियो में दंगा भड़काने की बात कर रहे हैं, तो पूरे षड्यंत्र में पूर्व मुख्यमंत्री की भूमिका को लेकर संदेह पैदा होते हैं।
ये संदेह तब और ज्यादा पुख्ता हो जाते हैं जब सिंधु निवास, रोहतक में चल रहे केस में सीबीआई अपनी जार्चशीट में जिनको आरोपियों बनाती है, वो पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा के पारिवारिक एवं राजनीतिक रिश्तेदार हैं। जिनकी ओडियो रिकार्डिंग में साफ-साफ बातचीत चल रही है कि कैप्टन अभिमन्यु के घर को टारगेट करना है और रोहतक में आगजनी व लूटपाट करनी है। ऐसे में जनता हरियाणा के गुनहगारों के चेहरे देखना चाहती है।

जानिए इन आरोपियों के बारे में-

• मास्टर महेंद्र हुड्डा, उम्र-76 साल : किलोई से कांग्रेस का मुख्य कार्यकर्ता और भूपेन्द्र हुड्डा का नजदीकी
• अशोक बलहारा, उम्र- 53 साल : महम से विधायक आनंद सिंह दांगी का नजदीकी, हुड्डा सरकार में इसे AAG नियुक्त किया गया था. 
• गौरव हुड्डा, उम्र- 34 साल : पूर्व मंत्री कृष्ण मूर्ति हुड्डा का बेटा 
• गौरव बुधवार, उम्र- 32 साल : हरियाणा के पूर्व मंत्री और कांग्रेस के प्रवक्ता कृष्ण मूर्ति हुड्डा का सबसे करीबी,
• सचिन दहिया, उम्र- 32 साल : कांग्रेस के पूर्व विधायक बीबी बत्रा का पूर्व पीए
• सुदीप कलकल, उम्र- 37 साल : पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह के भतीजे का साढ़ू.
• सोमबीर जसिया, उम्र- 34 साल : किलोई युवा कांग्रेस का अध्यक्ष, दीपेन्द्र हुड्डा और भूपेन्द्र हुड्डा का करीबी, दीपेन्द्र हुड्डा का पूर्व पीएसओ.
• पवन जसिया, उम्र- 35 साल : दीपेन्द्र हुड्डा का नजदीकी कांग्रेस कार्यकर्ता 
• धर्मेंद्र उर्फ धर्मा, उम्र- 25 साल : NSUI का सदस्य, 2007 में महम में धारा 406/420, 2012 धारा 160 के तहत रोहतक में केस दर्ज.
• जोगेंद्र उर्फ जोगा, उम्र- 32 साल : सीएम भूपेन्द्र हुड्डा के राजनीतिक सलाहकार रहे प्रोफेसर विरेंद्र का खास, कांग्रेस कार्यकर्ता. वर्ष 2012 में भी धारा 160 के तहत केस दर्ज है. जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान इन पर दो और केस दर्ज हुए.

महज संयोग नहीं हो सकता कि जाट आंदोलन की आड़ में जो घिनौना तांडव रोहतक या आसपास रचा गया, उसमें ज्यादातर पूर्व मुख्यमंत्री हुड्डा समर्थक ही हैं। कुछ तो दाल में काला है। क्या झा आयोग की रिपोर्ट दूध का दूध और पानी का पानी कर पाएगी।


ऐसा है कांग्रेस नेता का ऑडियो टेप
प्रो. वीरेंद्र सिंह का यह ऑडियो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय रहा। इसमें प्रो. सिंह और किसी कप्तान सिंह की जाट आंदोलन को लेकर हुई बातचीत इस प्रकार है-
फोन करने वाला : हेलो 
कप्तान : हां जी 
फोन करने वाला : हां, एक बार प्रोफेसर वीरेंद्र जी बात करेंगे आपसे 
कप्तान : हां कराओ
प्रो. वीरेंद्र : हां... कप्तान साहब नमस्कार। 
कप्तान : गुड इवनिंग सर, गुड इवनिंग 
प्रो. वीरेंद्र : कैसे हो? 
कप्तान : बहुत फाइन है सर अभी। 
प्रो. वीरेंद्र : कप्तान साहब, ये अपने इलाकों में तो बड़ा अच्छा चल रहा। देसवाली बेल्ट में। इनको कहो इनसो के लड़कों को और इनेलो वालों को। समर्थन का तो ड्रामा करते हो और सिरसा में एक कीडी भी नहीं रोक रक्खी थमनै। 
कप्तान : हां सर हां 
कप्तान : करता हूं मैं 
प्रो. वीरेंद्र : हुड्डा साहब ने जब दिया था तब तो आर्थिक रूप से आरक्षण की मांग की थी। वो क्या कहेंगे, कैह ही रहे हैं। तुम अपने इलाके में क्यों नहीं कर रहे। वहां कराओ। 
कप्तान : अभी कराता हूं। सिरसा साइड में नहीं हो रहा ना सर... 
प्रो. वीरेंद्र : सिरसा में नहीं हो रहा है। सिरसा में कराओ भाई।
कप्तान : अभी कराता हूं। 
प्रो. वीरेंद्र : ठीक है कप्तान साहब। 
कप्तान : अभी सर कहां से बोल रहे हो... 
बिना कोई जवाब दिए फोन बंद हो जाता है।

क्या हरियाणा की जनता को हक नहीं है कि वो असली गुनहगारों के चेहरों को पहचान सकें?


बाकी समाचार