Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

रविवार, 19 अगस्त 2018

पहला पन्‍ना English लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

हरियाणा के ओलंपियन पहलवान के गैंगस्टरों से सम्बन्ध!

'ओलंपिक में पदक विजेता पहलवान के पास दिल्ली में एमसीडी टोल टैक्स वसूली का ठेका है। उसने यह काम सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी को सौंप दिया है। एमसीडी को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी जाएगी। साथ ही जरूरत पड़ने पर पहलवान से भी पूछताछ हो सकती है।

Haryana's Olympian wrestler's relationship with gangsters!, naya haryana, नया हरियाणा

7 दिसंबर 2017

नया हरियाणा

हरियाणा के एक ओलंपियन पहलवान और सुंदर भाटी गैंग के बीच सांठगांठ हो गई है। इसी के तहत पहलवान ने एमसीडी टोल टैक्स वसूली के ठेके के संचालन का काम सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी को सौंप रखा है। भाजपा नेता शिव कुमार समेत तीन की हत्या में सोमवार को पकड़े गए सुंदर गैंग के शूटर नरेश तेवतिया और साजिशकर्ता अरूण यादव से पूछताछ में यह चौंकाने वाली जानकारी एसटीएफ और नोएडा पुलिस को मिली है। पुलिस को यह भी जानकारी मिली है कि पहलवान के उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सीओ से बेहतर संबंध है। उस सीओ के सुंदर भाटी से करीबी रिश्ते हैं। उसी सीओ ने पहलवान और सुंदर भाटी गैंग के बीच सांठगांठ कराई है। एसटीएफ को यह भी पता चला है कि सीओ और अरूण भाटी के दरोगा भाई के बीच भी अच्छे संबंध है। इस कारण अब भाजपा नेता समेत तीन की हत्या में सीओ की भूमिका की जांच हो रही है।

टोल वसूली में लगें हैं सुंदर के शूटर

सुंदर भाटी गैंग का काम दो हिस्सों में बंट गया है। अवैध वसूली का धंधा अब बलराज भाटी देख रहा है। शूटर और हथियार मुहैया कराने का काम भतीजा अनिल भाटी देख रहा है। अनिल भाटी के पास इस वक्त करीब 25 शूटर है। उसने इन शूटरों को दिल्ली में एमसीडी टोल टैक्स वसूली में लगा दिया है। हत्या कराने की सुपारी मिलने पर शूटर वारदात को अंजाम देकर फिर टैक्स वसूली में जुट जाते हैं।

5 लाख की सुपारी लेकर कराई थी गाजियाबाद में मिंटू की हत्या

एसटीएफ को शूटर नरेश तेवतिया से पूछताछ में यह भी पता चला है कि गाजियाबाद के इंदिरापुरम में 12 जुलाई को हुई मिंटू की हत्या को भी अनिल भाटी ने पांच लाख रुपये लेकर अंजाम दिलाया था। पार्किंग विवाद में मंटू की हत्या हुई थी। अब इस केस में भी अनिल भाटी का नाम शामिल किया जाएगा।

ऑटो से आया था वारदात को अंजाम देने आया था शूटर

नरेश तेवतिया ने एसटीएफ को बताया है कि भाजपा नेता की हत्या करने के लिए वह ऑटो से दिल्ली से गाजियाबाद आया था। अनिल भाटी के पास से शूटर अमर सिंह हथियार लेकर आया था। दो मोटरसाइकिल से वारदात को अंजाम देकर सभी शूटर लालकुंआ गाजियाबाद चले गए थे। जहां अमर सिंह ने सभी से हथियार वापस ले लिए थे। फिर नरेश तेवतिया दिल्ली चला गया था। अमर सिंह ने अनिल भाटी को हथियार वापस कर दिए थे।

'ओलंपिक में पदक विजेता पहलवान के पास दिल्ली में एमसीडी टोल टैक्स वसूली का ठेका है। उसने यह काम सुंदर भाटी के भतीजे अनिल भाटी को सौंप दिया है। एमसीडी को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी जाएगी। साथ ही जरूरत पड़ने पर पहलवान से भी पूछताछ हो सकती है। - लव कुमार, एसएसपी

'भाजपा नेता समेत तीन की हत्या के साजिशकर्ता अरूण यादव का भाई अलीगढ़ में एसओ है। उसकी भूमिका की जांच हो रही है। साथ ही एक सीओ का नाम भी इस केस में सामने आ रहा है। सीओ के एसओ और पहलवान से संबंध है। यह संभव है कि सीओ ने ही पहलवान को सुंदर भाटी गैंग से मिलवाया हो। जांच में संलिप्तता मिलने पर किसी को छोड़ा नहीं जाएगा। - अमिताभ यश, आइजी एसटीएफ

 

साभार-दैनिक जागरण

Tags:

बाकी समाचार