Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 17 सितंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

हम ऐसे नौकरी नहीं देते जिसकी वजह से तिहाड़ जेल में जाना पड़े : अनिल विज

उन्होंने कहा कि इनेलो कायदे कानून कोर्ट को नहीं मानती।

INLD law does not know the law court, health minister Anil Vij, MP Dushyant Chautala, are seen in pieces in the state of Congress, naya haryana, नया हरियाणा

2 अक्टूबर 2018



नया हरियाणा

कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने सांसद दुष्यंत चौटाला के रोजगार के आरोप पर पलटवार करते हुए कहा कि दुष्यंत चौटाला हमारे बच्चें जैसे हैं। अभी उसने राजनीति शुरू की है। उनकों तथ्यों का अध्ययन करने के बाद बोलना चाहिए। एक सांसद हैं। 
उन्होंने कहा कि हम 28 हजार नौकरी दे चुके हैं। अभी 25 -30 हजार नौकरियां पाइप लाइन में हैं। हम इस प्रकार से नौकरी नहीं देते जिसकी वजह से तिहाड़ में जाना पड़े।
विज ने कहा तथ्यों को बिना देखे दुष्यंत लोगों के सामने रखते हैं। कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने बयान देते हुए कहा कि  सबसे प्रभावशाली सीएम मौजूदा सीएम मनोहर लाल खट्टर हैं। विज ने कहा मैं 5 बार का विधायक हूं। सभी सीएम देखें हैं, लेकिन सबसे बेहतरीन सीएम मनोहर लाल ही है। सीएम जिस बात को जहां कहना है वहीं कहते हैं, लेकिन विपक्षी दलों के जो सीएम रहें हैं केवल प्रचार करते थे।
विज ने कहा एसवाईएल के लिए राष्ट्रपति और गृह मंत्री समेत तमाम लोगों से सीएम ने ही मिलवाया है। मामला कोर्ट में है, लेकिन इनेलो कायदे कानून कोर्ट को नहीं मानती। अभय चौटाला ने सीएम मनोहर लाल को डम्मी बताया था।
कांग्रेस की अलग-अलग रैलियों पर अनिल विज ने चुटकी लेते हुए कहा कि सरकार में आने के लिए सपने लेने में कोई एतराज नहीं है। अभी तक किसी भी सरकार ने सपने लेने पर टेक्स नहीं लगाया है। कांग्रेस के प्रदेश में टुकड़े नज़र आ रहें हैं। कोई टुकड़ा हुड्डा ,कोई टुकड़ा सैलजा तो कोई टुकड़ा तंवर के साथ बतौर पार्टी कांग्रेस का कोई वजूद नहीं है।
नुहं में हिपोथिया से दस बच्चों की मौत मामले पर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि कुछ बच्चें टीकाकरण में रह जाते हैं या धार्मिक मान्यताओं के चलते करवाते नहीं है। उनमें ये डिप्थीरिया बीमारी होती है। इम्यूनाइजेशन नहीं होने से बच्चों की मौत हुई है। इस बीमारी को गलगोटू भी कहते हैं।
विज ने कहा हमने फील्ड में टीम भेज दी है और गांव में इम्यूनाइजेशन के इंजेक्शन लगाए जा रहें हैं। विज ने कहा जिन गांवों के बच्चों की मौत हुई है। उनकी पहचान करके इम्यूनाइजेशन के इंजेक्शन लगाए जा रहें हैं।विज ने कहा इम्यूनाइजेशन का धार्मिक कारण के चलते पहले भी विरोध हुआ है। इसलिए हमनें धार्मिक गुरुओं से पहले भी सहयोग लिया है।
 


बाकी समाचार