Privacy Policy | About Us | Contact Us

नया हरियाणा

बुधवार, 19 दिसंबर 2018

पहला पन्‍ना English सर्वे लोकप्रिय हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप

आम आदमी पार्टी नहीं लड़ेगी जींद उपचुनाव : अरविंद केजरीवाल

जींद उपचुनाव से हरियाणा की जनता के मन की बात का अंदाजा लग सकता है.

Jind bye-elections, Aam Aadmi Party, Arvind Kejriwal, Naveen Jai Hind, naya haryana, नया हरियाणा

1 अक्टूबर 2018

नया हरियाणा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐलान किया है कि उनकी पार्टी जींद उपचुनाव नहीं लड़ेगी। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वे दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में सीसीटीवी कैमरे लगवाएंगे। काम करने के लिए कर्मचारी खुद जनता के घरों में जाएंगे। लोगों को बस फ़ोन कर अधिकारियों को सूचित करना होगा।

जींद उपचुनाव को लेकर जहां इनेलो, कांग्रेस और भाजपा अपनी कमान कस चुकी हैं, वहीं आम आदमी पार्टी ने जींद उपचुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया है। इससे साफ पता चलता है कि आप पार्टी अभी जमीनी स्तर पर अपनी नीतियों का प्रचार नहीं कर पाई है और दूसरी तरफ वह हार के साथ शुरूआत करना नहीं चाहती होगी।

आम आदमी पार्टी के हरियाणा विधानसभा चुनाव लड़ने से किस दल को फायदा होगा और किसको नुकसान होगा। इस पर जरूर विश्लेषण किया जा सकता है। जैसा कि मानकर चला जाता है या कहा जाता है कि भाजपा शहरी वोटरों के भरोसे ज्यादा रहती है, ठीक यही बात आम आदमी पार्टी पर भी लागू होती है। ऐसे में क्या यह सीधे-सीधे भाजपा को नुकसान होगा। जाहिर है भाजपा को नुकसान होना स्वाभाविक है, पर भाजपा से ज्यादा ये कांग्रेस के लिए ज्यादा नुकसानदायक रहेगा, क्योंकि जिस वोटर का मोहभंग भाजपा से चुका है, वह कांग्रेस पर जाने का विचार कर सकता था, परंतु आम आदमी पार्टी के चुनाव मैदान में आने के बाद उसके लिए एक नया विकल्प खुल जाएगा।

दूसरे दलों से निराश कार्यकर्ताओं, टिकटधारियों व सामान्य वोटर के लिए एक नया विकल्प खुलना लोकतंत्र के लिए भले ही सुखदायक रहेगा। पुराने दलों में  आम आदमी पार्टी के आने से इनेलो को भी फायदा हो सकता है। कुल मिलकार शहरी वोटर तीन जगह बंट जाएगा। ऐसे में गांव के वोटरों पर सभी दलों का विशेष जोर रहेगा।


बाकी समाचार