Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

मंगलवार, 12 नवंबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

15 मुख्यमंत्रियो और 7 उपमुख्यमंत्रियों के साथ मिलकर भाजपा ने बनाई चुनाव जीतने की रणनीति

जानिए भाजपा कौन से मंत्र के सहारे जीत दर्ज करना चाहती है.

@ LOK SABHA ELECTIONS@ 2019 ELECTIONS@ NARENDRA MODI@ AMIT SHAH@ MEETING@ CHIEF MINISTER@ ASSEMBLY ELECTIONS@ DEPUTY CHIEF MINISTER@ लोकसभा चुनाव@ 2019 चुनाव@ नरेंद्र मोदी@ अमित शाह@ बैठक@ मुख्यमंत्री@ विधानसभा चुनाव@ उपमुख्यमंत्री@ HINDI NEWS@ NAYA HARYANA @ TODAY NEWS, naya haryana, नया हरियाणा

29 अगस्त 2018



नया हरियाणा

 

भाजपा के 15 मुख्यमंत्री और सात उपमुख्यमंत्री हैं. दो उपमुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश, एक-एक उपमुख्यमंत्री गुजरात, बिहार, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश और त्रिपुरा में है. भाजपा के एक नेता के मुताबिक बैठक में सामान्य रणनीति के अलावा विभिन्न केंद्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन और 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के संबंध में चर्चा होने की संभावना है. पीएम मोदी के सत्ता में आने के बाद 2014 से मुख्यमंत्रियों की वार्षिक बैठक की यह परंपरा चल रही है.

लोकसभा चुनाव और विधानसभा चुनाव की लेकर बीजेपी ने बड़ा रोडमैप तैयार किया है। केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं को लेकर बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने बड़ी रणनीति तैयार की है। बीजेपी ने चुनाव के मद्देनजर केंद्र और राज्य सरकार के लाभार्थियों का डेटा बैंक तैयार करेगी। 
बीजेपी शाषित राज्यो के मुख्यमंत्रियों की बैठक में सभी मुख्यमंत्रियों और उपमुख्यमंत्रियों को कहा गया है कि जितनी केंद्र सरकार और राज्य सरकार की योजनाएं है, उसके लाभार्थियों के कांटेक्ट, फ़ोन नम्बर्स और पटे का डेटा इकठा किया जाए और पार्टी के तरफ से समय-समय पर इन लाभार्थियों से संपर्क किया जाए। 
सूत्रों की माने तो 20 करोड़ से ज्यादा लोग केंद्र सरकार और बीजेपी के राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थी है। बैठक में केंद्र की 12 योजनाओं मसलन उज्ज्वला, सौभाग्य, मुद्रा बैंक जैसी योजनाओं को पार्टी और सरकार के समन्वय से लोगों तक नीचे पहुंचाई जाए इसकी रूपरेखा तैयार की गई है। 
इस बैठक में जनता को केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का कैसे लाभ दिया जा सकता है इसको लेकर एक प्रेजेंटेशन भी दिया गया है। साथ ही साथ इस बैठक में केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का राज्यो के मुख्यमंत्रियों से फीडबैक और डेटा लिया गया और ये भी कहा गया कि 2019 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर रखते हुए सरकार और संगठन को और मजबूत किया जाए। 
साथ ही चुनावी राज्य मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के अंदर जितने भी राजनीतिक पद सरकार के अंदर खाली है, उसे जल्द जल्द भरा जाए। इसके अलावा केंद्रीय नेतृत्व ने सभी राज्यो के मुख्यमंत्रियों से कहा है कि राज्य और केंद्र की गरीब कल्याण योजनाओं का प्रचार और प्रसार ज्यादा ज्यादा किया जाए, जिनसे लोगों को सरकार की योजनाओं का पता चल सके और जनता इसका लाभ ले सके। 

इसके अलावा मुख्यमंत्रियो को ये भी निर्देश दिये गए है कि ज्यादा से ज्यादा कार्यकर्ताओ को सरकार की योजनाओं से जोड़ा जाए। इस बैठक में 15 मुख्यमंत्रियो और 7 उपमुख्यमंत्रियों ने शिरकत की है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ये सभी रणनीतियां बनाई गई हैं।
दीन दयाल उपाध्याय मार्ग स्थित भाजपा मुख्यालय में भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उप-मुख्यमंत्रियों साथ राष्टीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी बैठक की थी। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी सुबह से लेकर शाम तक चलने वाली इस बैठक में भाग लिया।  बैठक का प्रारम्भ भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय अटल जी के चित्र के सम्मुख दीप जला कर किया गया।
 


बाकी समाचार