Web
Analytics Made Easy - StatCounter
Privacy Policy | About Us

नया हरियाणा

बुधवार, 13 दिसंबर 2017

पहला पन्‍ना English देश वीडियो राजनीति अपना हरियाणा शख्सियत समाज और संस्कृति आपकी बात लोकप्रिय Faking Views हमारे बारे में

हरियाणवी प्रेमपत्र : रूठे हुए प्रेमी के नाम प्रेमिका का

इसे भी मन्ने के तेरे चिचड़ तोड़ दिए , जो सड़े टमाटर बरगा मुँह बना के बैठ गया...

naya haryana

27 नवंबर 2017

मोनिका शर्मा

घणे ए दिन हो गये, थारा न कोई फोन आया न कोई बेरा....क्यूँ मुँह सूजा राख्या स?

इसे भी मन्ने के तेरे चिचड़ तोड़ दिए , जो सड़े टमाटर बरगा मुँह बना के बैठ गया...
तन्ने किमें कह दो जिब्बे ए तेरी धोती म त धुआँ उठण लाग जा स.... के पाछे म गोस्से सुलगाये बैठा रह स...

नू ए तो कही थी..माड़ी सी हाण डट जा... रोटी पाणी गिट लूँ काटू सूं फोन... 
सारे दिन तेरे गेल्याँ इस फोन प गोह पाटड़ की तरह टँगी रहूँ सूं.... र जाये रोये बीस बीस दिन हो जा स मन्ने नहाये , नू सोचूँ सू न नहान का टेम भी क्याह न बर्बाद करूँ तेरे गेल्यां ही प्यार की बतला लूँ... तन्ने बेरा स.. मिहने म दो डीयोडरीन की सीसी लाग जा स .. नहाऊंगी न तो गात तो बदबू मारेगा ए न..देख मेरे बाल भी नू हो गए जणू काटड़े न चाब लिये हों...मेरी सासू आळा यो किसा प्रेम होया.. देख ले कितने कितने बलिदान दू सूं तेरे प्रेम खात्तर और एक तू सासू आळा रांड रोया  तेरी नाड़ ए नीची न होती... रुसने तेरी या नाक जो तन्ने अकड़ा राखी स घणी लांबी न करे ...लोगां की टाटा 407 फेर इस्से प चाल्या करेंगी ... झकोई मान जा ..क्यों अपने भितरले का फ्यूज़ उड़ा राख्या स...

इब्ब तो प्यार त मीठा मीठा बोल मनाऊं सू.. ज मेरी माँ आळी के छोह उठ गया न ढेड के नासां म लठ दे दूँगी के इस फाटक बरगी नासां न ऊँची करे हांडे जा स...

प्यार त मनाऊं सू मान जाइए... मेरी तरफ त देखे घणा सारा आई लब यू रहवेगा....

तेरी...
रामरती...

loading...

बाकी समाचार