Hindi Online Test Privacy Policy | About Us | Contact

नया हरियाणा

बुधवार, 16 अक्टूबर 2019

पहला पन्‍ना सर्वे लोकप्रिय 90 विधान सभा हरियाणा चुनाव राजनीति अपना हरियाणा देश शख्सियत वीडियो आपकी बात सोशल मीडिया मनोरंजन गपशप English

INSO और NSUI वंशवाद, परिवारवाद और ध्रुवीकरण की राजनीति तक सीमित हैं : ABVP

हरियाणा में छात्र संगठनों को काफी पुरानी मांग जल्द पूरी होने वाली है.

NSUI, ABVP, INSO, naya haryana, नया हरियाणा

1 अगस्त 2018



नया हरियाणा

हरियाणा में लगभग 20 साल बाद छात्र संघ चुनाव होने जा रहे हैं। सितंबर के आखिरी या अक्टूबर के पहले सप्ताह में प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों में चुनाव कराने की तैयारी है। इस संबंध में मंगलवार को चंडीगढ़ में बैठक हुई। फिर सीएम मनोहर लाल खट्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सभी जिलों के डीसी और एसपी को तैयारी के आदेश दिए।

गौरतलब है कि भाजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में भी छात्र संघ चुनाव बहाली का वादा किया था। शिक्षा मंत्री प्रोफेसर रामविलास शर्मा पहले ही घोषणा कर चुके हैं। इस बीच मंगलवार सुबह 11:30 बजे कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ की कोठी पर इस विषय पर बैठक हुई। धनखड़ खुद अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष रह चुके हैं। भाजपा के संगठन महामंत्री सुरेश भट्ट कई विश्वविद्यालयों के कुलपति और एबीवीपी के पदाधिकारियों ने भी इस में भाग लिया।
सीएम से मुलाकात के बाद ABP के प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजेन्द्र धीमान एवं प्रांतीय महामंत्री सुनील भारद्वाज ने कहा इनसो और एनएसयूआई के बहाने इनेलो और कांग्रेस मौके की राजनीति कर रही हैं। इनेलो ने 6 साल और कांग्रेस ने 10 साल तक छात्र संघ चुनाव को बहाल कराने में महज इसलिए दिलचस्पी नहीं दिखाई क्योंकि इससे उनकी वंशवाद, परिवारवाद और ध्रुवीकरण की राजनीति खत्म हो रही थी।

उन्होंने कहा कि आज भी इनसो, एनएसयूआई के कार्यक्रम में युवाओं के बजाय विधायक और पदाधिकारी होते हैं। छात्र संघ चुनाव बहाली पर श्रेय के मसले पर एबीपवीपी पदाधिकारियों ने कहा इनसो, एनएसयूआई के पोस्टर बाजी और खंभे पर चढ़ने का ढोंग करने तक सीमित है जबकि पूर्व सरकारों के साथ-साथ वर्तमान सरकार में भी छात्र संघ चुनाव बहाली के लिए संघर्ष किया है। उन्होंने दावा किया कि हमेशा विद्यार्थियों की परेशानियों के समाधान की कोशिश की है।


बाकी समाचार